क्या है विश्व तम्बाकू निषेध दिवस | World No Tobacco Day in Hindi

  • 31 मई को वर्ल्ड नो तंबाकू डे मनाया जाता है। पूरे विश्व के लोगों को तंबाकू मुक्त और स्वस्थ बनाने के लिये तथा सभी स्वास्थ्य खतरों से बचाने के लिये तंबाकू चबाने या धुम्रपान के द्वारा होने वाले सभी परेशानियों और स्वास्थ्य जटिलताओं से लोगों को आसानी से जागरुक बनाने के लिये पूरे विश्व भर में एक मान्यता-प्राप्त कार्यक्रम के रुप में मनाने के लिये विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा पहली बार विश्व तंबाकू निषेध दिवस को आरम्भ किया गया।

पहली बार कब मनाया गया

  • इसे पहली बार 7 अप्रैल 1988 को डबल्यूएचओ की वर्षगाँठ पर मनाया गया और बाद में हर वर्ष 31 मई को तंबाकू निषेध दिवस के रुप में मनाने की घोषणा की गयी। डबल्यूएचओ के सदस्य राज्यों के द्वारा वर्ष 1987 में विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रुप में इसका सृजन किया गया था।

तम्बाकू के नुकसान

  • तंबाकू न सिर्फ व्यक्ति का शरीर खराब करता है बल्कि उसके दिमाग को भी बुरी तरह प्रभावित करता है। तंबाकू से लाखों लोग कई गंभीर बीमारियों के शिकार हो जाते हैं।
  • तंबाकू में कैंसर पैदा करने वाले तत्व निकोटीन , नाइट्रोसामाइंस, बंजोपाइरींस, आर्सेनिक और क्रोमियम अत्यधिक मात्रा में पाए जाते हैं जिनमें निकोटिन, कैडियम और कार्बनमोनो ऑक्साइड स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है।

धूम्रपान से होने वाली बीमारियों के लक्षण

  • गले संबंधी समस्याएं या फिर लंबे समय तक खांसी रहना या फिर खांसी में खून का निकलना।
  • सांस लेन में दिक्कत होना, भूख ना लगना, हमेशा थकान, नींद की कमी और तनाव महसूस होना ।

धूम्रपान से बचने के उपाय

  • अपने आपको तनाव से दूर रख अधिक से अधिक व्यस्त रहना चाहिए, अपनी विल पॉवर मजबूत करें
  • नशामुक्त केंद्र पर जाकर इलाज कराया जा सकता है, ध्रूमपान छोड़ने के लिए च्यूइंगम, स्प्रे और इनहेलर जैसी चीजों का सेवन किया जा सकता है।
  • अपने आहार में सुधार लाकर भोजन में एंटीऑक्सीडेंट्स युक्त फलों और सब्जियों को खूब खाना चाहिए। आंवला, आम और हल्दी के सेवन से मुंह संबंधी बीमारियों से छूटकारा पाया जा सकता है।

World No Tobacco Day in Hindi

0Shares
Tagged:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *