गुप्तोत्तर काल (प्राचीन इतिहास भाग 30) Guptottar Kaal AUDIO NOTES in hindi

Table of Contents

गुप्तोत्तर काल (AUDIO NOTES)

छठी शताब्दी के मध्य में गुप्त साम्राज्य पूरी तरह से नष्ट हो चुका था इसके पश्चात हालांकि वर्धन वंश का शासन मुख्यतः मगध पर पर हुआ परंतु गुप्तों के पतन के पश्चात छेत्रिय शासकों ने अपनी स्वतंत्रता की घोषणा करना शुरू कर दिया था इस ऑडियो क्लिप में हम उन्हीं वंशों के बारे में जानेंगे जिन्होंने ने गुप्तों के पश्चात शासन किया
1. वल्लभी में मैत्रैयी वंश का शासन हुआ जिसका संस्थापक भट्टारक था
2. पंजाब में हूणों का शासन हुआ जिसका प्रमुख शासक तोरमाण था इसके पश्चात मिहिरकुल शासक हुआ जिसे ग्वालियर लेख में पृथ्वी का स्वामी कहा गया है
3. कन्नौज में मौखरी वंश का शासन रहा ये गुप्तों के सामन्त थे
4. मालवा में यशोवर्मन का शासन रहा
5. दक्षिण भारत में चालुक्यों का उत्कर्ष हुआ जो पुलकेशियन प्रथम के काल में हुआ
6. पुलकेशियन के पश्चात कीर्ति वर्मन शासक बना जिसने गोआ पर अधिकार किया
7. इसके पश्चात पुलकेशियन द्वितीय आया जिसने हर्ष को नर्मदा नदी के तट पर हराया
8. महेंद्र वर्मन प्रथम के काल में पल्लव वंश का उत्कर्ष हुआ
 

आगे ऑडियो नोट्स सुनें

[media-downloader media_id=”1583″]

tags: gupttotar kaal history in hindi audio, history notes in hindi, ssc cgl, upsc, uppsc

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

1 thought on “गुप्तोत्तर काल (प्राचीन इतिहास भाग 30) Guptottar Kaal AUDIO NOTES in hindi”

Leave a Comment