ब्लैक बॉक्स क्या होता है?(What is Black Box in Hindi)

  • हवाई जहाज का ‘ब्लैक बॉक्स’ या फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर, वायुयान में उड़ान के दौरान विमान से जुडी सभी तरह की गतिविधियों को रिकॉर्ड करने वाला उपकरण होता है |
  • इस बॉक्स को सुरक्षा की दृष्टि से विमान के पिछले हिस्से में रखा जाता है |
  • यह बॉक्स बहुत ही मजबूत मानी जाने वाली धातु टाइटेनियम का बना होता है |

ब्लैक बॉक्स की आवश्यकता क्यों पड़ी ?

  • वर्ष 1953-54 में हवाई हादसों की बढती हुई संख्या को देखते हुए विमान में एक ऐसे उपकरण को लगाने की बात की जाने लगी जो कि विमान हादसे के कारणों की ठीक से जानकारी दे सके ताकि भविष्य में होने वाले हादसों से बचा जा सके |

ब्लैक बॉक्स का आविष्कार किसने किया ?(who invented Black Box in Hindi)

  • David Ronald de Mey Warren AO (20 March 1925 – 19 July 2010) जो कि एक Australian वैज्ञानिक थे, उन्हें इसके आविष्कार के लिए जाना जाता है |

क्या होता है ब्लैक बॉक्स के अन्दर ?(What is inside of Black Box)

1. फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर:  इसमें विमान की दिशा, ऊँचाई (altitude) , ईंधन, गति (speed), हलचल (turbulence),केबिन का तापमान इत्यादि सहित 88 प्रकार के आंकड़ों के बारे में 25 घंटों से अधिक की रिकार्डेड जानकारी एकत्रित रखता है|

2. कॉकपिट वोइस रिकॉर्डर: यह बॉक्स विमान में अंतिम 2 घंटों के दौरान विमान की आवाज को रिकॉर्ड करता है | यह इंजन की आवाज, आपातकालीन अलार्म की आवाज , केबिन की आवाज और कॉकपिट की आवाज को रिकॉर्ड करता है; ताकि यह पता चल सके कि हादसे के पहले विमान का माहौल किस तरह का था |

‘ब्लैक बॉक्स’ कैसे काम करता है?

  • यह 1100°C के तापमान को एक घंटे तक सहन कर लेता है और 30 दिन तक बिना विद्युत् के काम करता रहता है |
  • जब यह बॉक्स किसी जगह पर गिरता है तो प्रत्येक सेकेण्ड एक बीप की आवाज लगातार 30 दिनों तक निकालता रहता है |
  • यह 14000 फीट गहरे समुद्री पानी के अन्दर से भी संकेतक भेजता रहता है |

यह भी पढ़ें |

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *