साहित्यिक स्रोत, पुरातात्विक स्त्रोत व विदेशी विवरण | 33 Facts | Most Important Facts of Sources of Ancient History

साहित्यिक स्रोत, पुरातात्विक स्त्रोत व विदेशी विवरण | तथ्यावली | Most Important Facts of Sources of Ancient History 1.ऐतिहासिक दृष्टि पर आधारित पहला भारतीय ग्रन्थ कौन-सा है? कल्हणकृत ‘राजतरंगिणी 2. भारतीय समाज मुख्य रूप से कितने भागों में विभाजित था?  ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य, शुद्र 3.स्त्रोतों के रूप में धार्मिक साहित्य को कितने उपवर्गों में विभाजित […]

Read More

30 Most Important Facts About Harappa Civilization in Hindi

सर्वप्रथम १९२१ ई. में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के अध्यक्ष जॉन मार्शल के निर्देशन में हड़प्पा स्थल का ज्ञान हुआ | हडप्पा की खोज २९२१ में दयाराम साहनी ने की थी| सिन्दू घाटी सभ्यता का समूचा क्षेत्र त्रिभुजाकार है जिसका क्षेत्रफल १२,९९,६०० वर्ग किमी है | हडप्पा से कब्रिस्तान आर-३७ प्राप्त हुआ है| हडप्पा से […]

Read More

वैदिक संस्कृति से सम्बंधित 29 बेहद महत्वपूर्ण तथ्य

ऋग्वेद में ‘आर्य’ शब्द का ३६ बार उल्लेख है| ऋग्वेद की अनेक बातें अवेस्ता से मिलाती है, जो ईरानी भाषा का प्राचीनतम ग्रन्थ है| सिन्धु नदी की ऋग्वेद में सर्वाधिक चर्चा की गई है| ऋग्वेद में सरस्वती को नदीतमा (पवित्र नदी) काहां गया है| ऋग्वेद में गंगा की एक बार एवं यमुना की तीन बार […]

Read More

पोरस कौन था ? Who was Porus in Hindi

पोरस कौन था ? Who was Porus in Hindi राजा पोरस (राजा पुरू भी) पोरवा राजवंश के वशंज थे, जिनका साम्राज्य पंजाब में झेलम और चिनाब नदियों तक (ग्रीक में ह्यिदस्प्स और असिस्नस) और उपनिवेश ह्यीपसिस तक फैला हुआ था। इनका क्षेत्र हाइडस्पेश (झेलम) और एसीसेंस (चिनाब) के बीच था जो कि अब पंजाब का क्षेत्र […]

Read More

वेदों के ब्राह्मण, अरण्यक तथा उपनिषद (Brahmins of Vedas, Aranyak and Upanishad)

वेदों के ब्राह्मण, अरण्यक तथा उपनिषद (Brahmins of Vedas, Aranyak and Upanishad) वेद ब्राह्मण अरण्यक उपनिषद उपवेद प्रवर्तक (उपवेद) ऋग्वेद ऐतरेय ब्राह्मण कौतिकी ब्राह्मण ऐतरेय कौतिकी ऐतरेय उपनिषद कौतिकी आयुर्वेद प्रजापति सामवेद पंचविश ब्राह्मण ताण्डय ब्राह्मण षटविश ब्राह्मण जैमिनीय ब्राह्मण छांदोग्य जैमिनीय छांदोग्य उपनिषद केनोपनिषद गंधर्ववेद नारद यजुर्वेद तैत्तिरीय ब्राह्मण शतपथ ब्राह्मण वृहदारण्यक तैतरीयारण्यक श्वेताश्वतरोपनिषद […]

Read More

ऋग्वैदिक कालीन प्रमुख नदियां

ऋग्वैदिक कालीन प्रमुख नदियां  प्राचीन नाम आधुनिक नाम कुभा काबुल सुवस्तु स्वात क्रूमु कुर्रम गोमती गोमल वितस्ता झेलम अस्किनी चेनाव पुरूष्णी रावी विपाशा व्यास शतुद्री सतलज सदानीरा गंडक दृषद्वती घग्धर सुषोमा सोहन मरुदवृद्धा मरूबर्मन  

Read More

प्रागैतिहासिक कालीन संस्कृति एवं विशेषताएं

प्रागैतिहासिक कालीन संस्कृति एवं विशेषताएं काल संस्कृति के लक्षण मुख्य स्थल महत्व उपकरण एवं विशेषताएं निम्न पुरापाषाण काल शल्क, गंडासा, खंडक, उपकरण, संस्कृति पंजाब, कश्मीर, सोहन घाटी, सिंगरौली घाटी, छोटा नागपुर, नर्मदा घाटी, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश हस्त कुठार एवं वाटिकाश्म उपकरण, होमो इरेक्टस के अस्थि अवशेष नर्मदा घाटी से प्राप्त हुए हैं | मध्य पुरापाषाण […]

Read More

सिंधु सभ्यता में भिन्न स्थानों से आयात की जाने वाली वस्तुएं

सिंधु सभ्यता में भिन्न स्थानों से आयात की जाने वाली वस्तुएं  आयात की जाने वाली वस्तुएं स्थान सोना अफगानिस्तान, फारस, भारत (कर्नाटक) चांदी ईरान, अफगानिस्तान, मेसोपोटामिया तांबा खेतड़ी (राजस्थान), बलूचिस्तान टिन ईरान (मध्य एशिया), अफगानिस्तान खेल खड़ी बलूचिस्तान, राजस्थान, गुजरात हरित मणि दक्षिण भारत शंख एवं कौड़ियां सौराष्ट्र (गुजरात), दक्षिण भारत नील रत्न बदख्शाँ (अफगानिस्तान) […]

Read More

वैदिक कालीन सूत्र साहित्य

वैदिक कालीन सूत्र साहित्य  कल्पसूत्र विधि एवं नियमों का प्रतिपादन श्रौतसूत्र यज्ञ से संबंधित विस्तृत विधि-विधानों की व्याख्या | शुल्बसूत्र यज्ञ स्थल तथा अग्नि वेदी के निर्माण तथा माप से संबंधित नियम है इसमें भारतीय ज्यामिति का प्रारंभिक रूप दिखाई देता है | धर्मसूत्र सामाजिक-धार्मिक कानून तथा आचार संहिता है | ग्रह सूत्र मनुष्य के […]

Read More

सिंधु सभ्यता के प्रमुख स्थल एवं उनकी स्थिति

सिंधु सभ्यता के प्रमुख स्थल एवं उनकी स्थिति प्रमुख स्थल खोज का बादशाह उत्खनन कर्ता नदी तट स्थिति हड़प्पा 1921 दयाराम साहनी रावी के बाएं किनारे मॉन्टगोमरी जिला (पाकिस्तान) मोहनजोदड़ो 1922 राखल दास बनर्जी सिंधु के दाहिने किनारे पर लरकाना जिला (सिंध) पाकिस्तान सुत्कागेण्डोर 1927 ऑरेल स्टाइल एवं जॉर्ज डेल्स दशक मकरान तट (बलूचिस्तान) पाकिस्तान […]

Read More

ऋग्वेद के मंडल और उनके रचयिता (Parts of Rigveda and their Writers)

ऋग्वेद के मंडल और उनके रचयिता (Parts of Rigveda and their Writer) मंडल रचयिता द्वितीय मंडल गृत्समद तृतीय मंडल विश्वामित्र चतुर्थ मंडल वामदेव पांचवा मंडल आत्रि छठा मंडल भारद्वाज सातवां मंडल वशिष्ठ आठवां मंडल कणव व अंगीरा  

Read More

जैन धर्म के 24 तीर्थंकर ( 24 Tirthankaras of Jainism)

जैन धर्म के 24 तीर्थंकर (24 Tirthankaras of Jainism) 1 ऋषभदेव (आदिनाथ) 13 अजीत नाथ 2 संभवनाथ 14 अभिनंदन 3 सुमितिनाथ 15 पदम प्रभु 4 सुपार्शवनाथ 16 चंद्रप्रभु 5 सुविधिनाथ 17 शीतलनाथ 6 श्रेयांशनाथ 18 वासुमल 7 विमलनाथ 19 अनंतनाथ 8 धर्मनाथ 20 शांतिनाथ 9 कुंथुनाथ 21 अरनाथ 10 मल्लीनाथ 22 मुनि सुब्रत 11 नेमीनाथ […]

Read More

बौद्ध संगीतियां व बौद्ध धर्म के प्रतीक

बौद्ध संगीतियां  सम्मेलन वर्ष स्थान अध्यक्ष शासन काल प्रथम 483 ई.पू. राजगृह महाकस्सप अज्ञातशत्रु द्वितीय 383 ई.पू. वैशाली सर्वकामिनी कालाशोक तृतीय 250 ई.पू. पाटिलपुत्र मोग्गलीत्त तिस्स अशोक चतुर्थ 72 ई.पू. कुंडलवन वसुमित्र कनिष्क बौद्ध धर्म के प्रतीक (Buddhist symbols) घटना प्रतीक/चिन्ह जन्म कमल व साँड गृह त्याग घोड़ा ज्ञान पीपल (बोधिवृक्ष) निर्वाण पदचिन्ह मृत्यु स्तूप […]

Read More

ऋगवेद में उल्लिखित शब्द (Words Written in Rig Veda)

ऋगवेद में उल्लिखित शब्द (Words written in Rig Veda) शब्द संख्या इन्द्र 250 बार अग्नि 200 वरुण 30 जन 275 विश 171 पिता 335 माता 234 वर्ण 23 ग्राम 13 ब्राह्मण 15 क्षत्रिय 9 वैश्य 1 शूद्र 1 राष्ट्र 10 समा 8 समिति 9 विदथ 122 गंगा 1 यमुना 3 राजा 1 सोम देवता 144 […]

Read More

श्वेतांबर एवं दिगंबर में अंतर ( Differences between Svetambara and Digambar)

श्वेतांबर एवं दिगंबर में अंतर (Differences between Swetambara and Digambar) श्वेतांबर दिगंबर 1 मोक्ष की प्राप्ति के लिए वस्त्र त्याग आवश्यक नहीं | मोक्ष के लिए वस्त्र त्याग आवश्यक 2 इसी जीवन में स्त्रियां निर्वाण के अधिकारी स्त्रियों को निर्वाण संभव नहीं | 3 कैवल्य ज्ञान की प्राप्ति के बाद भी लोगों को भोजन की […]

Read More