मंगल पांडे | Complete Information About Mangal Pandey

Complete Information About Mangal Pandey in Hindi जीवन परिचय(Biography) मंगल पाण्डेय का जन्म भारत में उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के नगवा नामक गांव में 19 जुलाई 1827 को एक सामान्य सरयूपारीण ब्राह्मण परिवार में हुआ था। हांलाकि कुछ इतिहासकार इनका जन्म-स्थान फैज़ाबाद के गांव सुरहुरपुर को मानते हैं। इनके पिता का नाम दिवाकर पांडे था। मंगल पाण्डेय सन् 1849 में 22 साल […]

Read More

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के कुछ प्रमुख व्यक्तित्व | PDF | Download

इस नोट्स में आप पायेंगे, विभिन्न स्वतंत्रता संग्राम के व्यक्तित्वों के बारे में, अक्सर प्रतियोगी परीक्षाओं में इससे सवाल पूछा जाता है, यहाँ ये बेहद सरल भाषा में दिया गया है जिससे एक बार पढ़ते ही समझ आ सके, Oneliner Format के इस नोट्स से आपको तथ्य याद रखने में आसानी होगी, तथा मुख्य अंशों […]

Read More

आदिवासी विद्रोह- Tribal Revolts in India Before Indian Independence

Tribal Uprising in British India इसमें कोल, संथाल, अहोम, खासी, मुंडा, रमपाई कुछ प्रमुख है कोल विद्रोह यह 1820से 1836 तक हुआ छोटा नागपुर के कोलो ने अपना क्रोध उस समय प्रकट किया जब उनकी भूमि उनके मुखियाओ से छिन के कृषिक मुस्लिमों तथा सिक्खों को दे दी गई 1831 ई. में कोलो ने लगभग […]

Read More

1857 के बाद हुए नागरिक विद्रोह [Audio Notes]

 1857 के बाद के विद्रोह(Revolt after 1857) 1857 के विद्रोह के बाद भारत में और भी अनेक विद्रोह हुए जिनमें कुछ नागरिक विद्रोह थे कुछ आदिवासी तथा कुछ कृषक विद्रोह थे  सन्यासी विद्रोह (Sanyasi Vidroh)  यह 1763 ई. से 1800 ई. तक चला अंग्रेजो के द्वारा बंगाल के आर्थिक शोषण से जमींदार ,शिल्पकार, कृषक सभी […]

Read More

1857 के विद्रोह के कारण [Audio Notes]

राजनैतिक कारण डलहौजी की राज्य हडप ने की नीति , भारतीयो के साथ अंग्रेजों का घृणित व्यवहार (रंगभेद करना अच्छा व्यवहार ना करना उच्च पदों पर केवल अंग्रेजों को ही आसीन किया जाता था और भारतीयोंको छोटे पदों पर आसीन किया जाता था ) आर्थिक कारण अंग्रेजों की नीति की वजह से उद्योग धंधे भी […]

Read More

1857 का विद्रोह – भाग 1 [Audio Notes in Hindi]

1857 का विद्रोह कम्पनी के अधीनस्थ भारतीय सैनिकों की बगावत से प्रारम्भ हुआ1857 का विद्रोह का प्रारम्भ 29 मार्च 1857 को बंगाल के बैरकपुर सैन-ए छावनी में तैनात 19 वीं और 34 वीं नैटिव इंफेंटरी में जो सैनिक थे उन्होंने चर्बी लगे कारतूसों को प्रयोगों में लाने से मना कर दिया बॉथ की हत्या  इन्हीं […]

Read More