अस्त्र और शस्त्र में क्या अंतर है ? Difference Between Ashtra and Shashtra Hindi

Difference Between Ashtra and Shashtra Hindi


अस्त्र और शस्त्र में क्या अंतर है, ये मैं आपको बेहद सरल भाषा में बताने का प्रयास करूँगा पहले ये समझ लीजिये कि प्राचीन भारत के लोग अस्त्र-शस्त्र विद्या में निपुण थे। प्राचीन काल में जिन अस्त्र-शस्त्रों का उपयोग होता था, अब अंतर इस प्रकार है –

  • अस्त्र उसे कहते हैं, जिसे दूरी से फेंकते हैं। वे अग्नि, गैस और विद्युत तथा यान्त्रिक उपायों से चलते हैं। आज भी जिनको दूर से फेंका जाता है वे अस्त्र की श्रेणी में आते हैं |
  • शस्त्र वे ख़तरनाक हथियार हैं जिन्हें हाथ में पकड़ कर प्रहार करके चोट पहुचायी जाती है।

नीचे कुछ अस्त्र-शस्त्रों का वर्णन किया गया है (Difference Between Ashtra and Shashtra Hindi)

  1. गदा इसका हाथ पतला और नीचे का हिस्सा वजनदार होता है।
  2. मुद्गर इसे साधारणतया एक हाथ से उठाते हैं।
  3. चक्र दूर से फेंका जाता है।
  4. वज्र कुलिश तथा अशानि-इसके ऊपर के तीन भाग तिरछे-टेढ़े बने होते हैं। बीच का हिस्सा पतला होता है। पर हाथ बड़ा वजनदार होता है।
  5. त्रिशूल इसके तीन सिर होते हैं। इसके दो रूप होते है।
  6. शूल इसका एक सिर नुकीला, तेज होता है।
  7. असि तलवार को कहते हैं। यह शस्त्र किसी रूप में पिछले काल तक उपयोग होता रहा था।
  8. खड्ग बलिदान का शस्त्र है।
  9. चन्द्रहास टेढ़ी तलवार के समान वक्र कृपाण है।
  10. फरसा यह कुल्हाड़ा है। पर यह युद्ध का आयुध है।
  11. मुशल यह गदा के सदृश होता है, जो दूर से फेंका जाता है।
  12. धनुष इसका उपयोग बाण चलाने के लिये होता है।
  13. बाण सायक, शर और तीर आदि भिन्न-भिन्न नाम हैं ये बाण भिन्न-भिन्न प्रकार के होते हैं। हमने ऊपर कई बाणों का वर्णन किया है। उनके गुण और कर्म भिन्न-भिन्न हैं।
  14. परिघ में एक लोहे की मूठ है। दूसरे रूप में यह लोहे की छड़ी भी होती है और तीसरे रूप के सिरे पर बजनदार मुँह बना होता है।
  15. भिन्दिपाल लोहे का बना होता है। इसे हाथ से फेंकते हैं। इसके भीतर से भी बाण फेंकते हैं।
  16. नाराच एक प्रकार का बाण हैं।
  17. परशु यह छुरे के समान होता है। भगवान परशुराम के पास अक्सर रहता था।
  18. कुण्टा इसका ऊपरी हिस्सा हल के समान होता है। इसके बीच की लंबाई पाँच गज की होती है।
  19. शंकु बर्छी भाला है।
  20. पट्टिश एक प्रकार का तलवार है जो कि लोहे की पतली पटटियों वाला होता है।
1Shares

Tagged:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *