हेनले पासपोर्ट इंडेक्स में भारत किस स्थान पर है?

हेनले पासपोर्ट इंडेक्स

  • हेनले पासपोर्ट इंडेक्स दुनिया के सभी पासपोर्टों की मूल रैंकिंग है।
  • इंडेक्स से यह पता चलता है कि किसी एक विशेष देश का पासपोर्ट धारक कितने देशों में बिना पूर्व वीज़ा के यात्रा कर सकता है।
  • यह इंडेक्स हेनले ग्लोबल मोबिलिटी रिपोर्ट  का एक हिस्सा है जिसे इंटरनेशनल सर्वे कंपनी ‘हेनली एंड पार्टनर्स’ द्वारा जारी किया जाता है।
  • यह इंडेक्स मूलतः डॉ. क्रिश्चियन एच. केलिन (हेनले एंड पार्टनर्स के अध्यक्ष) द्वारा स्थापित किया गया था ।
  • हेनले पासपोर्ट इंडेक्स की रैंकिंग ‘इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन’ (IATA) के विशेष डेटा के आधार पर तैयार की जाती है।
  • IATA एक अंतर्राष्ट्रीय यात्रा की जानकारी का दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे सटीक डेटाबेस प्रदान करता है।
  • हेनले पासपोर्ट इंडेक्स वर्ष 2006 में लॉन्च किया गया था और इसमें 199 देशों के पासपोर्ट शामिल हैं।

हेनले पासपोर्ट इंडेक्स में स्थान

  • वर्ष2021 की हेनले पासपोर्ट इंडेक्स की रैंकिंग में जापान(तीसरी बार )और सिंगापुर को शीर्ष स्थान प्राप्त हुआ है तथा इन देशों के पासपोर्ट धारकों को 192 देशों में वीज़ा-मुक्त यात्रा करने की अनुमति है।
  • जर्मनी और साउथ कोरिया दूसरे स्थान पर हैं।
  • फिनलैंड, इटली , स्पेन और लक्जमबर्ग तीसरे स्थान पर हैं।
  • डेनमार्क इस लिस्ट में चौथे पायदान पर है
  • फ्रांस, आयरलैंड, नीदरलैंड, पुर्तगाल और स्वीडन पांचवें स्थान पर हैं।
  • वर्ष 2021 की रैंकिंग में भारत 90वें स्थान पर पहुँच गया है  जब कि 2020 में 84वें और 2019 में 82वें स्थान पर था।
  • सूचकांक में भारत का मोबिलिटी स्कोर 58 है। जिसका तात्पर्य है कि भारत के पासपोर्ट के साथ आप विश्व के 58 देशों में बिना किसी पूर्व वीजा मुक्त यात्रा करने की अनुमति है।
  • भारत ,ताजिकिस्तान और बुर्किना फासो के साथ यह  रैंक साझा कर रहा है।
  • हेनले पासपोर्ट इंडेक्स में भूटान 96वें, म्यांमार 102वें, श्री लंका 107वें, बांग्लादेश 108वें, नेपाल 110वें, पाकिस्तान 113वें और अफगानिस्तान सबसे आखिरी 116वें स्थान पर है।