History
Monisha

स्वतंत्र प्रांतीय राज्य (INDEPENDENT PROVINCIAL STATES)

बंगाल  ग्याशुद्दीन तुगलक ने बंगाल को तीन भागों लखनौती (उत्तर बंगाल), सोनारगाँव (पूर्वी बंगाल) तथा सतगाँव (दक्षिण बंगाल) में विभाजित कर दिया। परंतु, शम्सुद्दीन इलियास शाह ( हाजी इलियास) ने 1350 ई० में बंगाल को एकीकृत कर स्वयं को वहाँ का स्वतंत्र शासक घोषित कर दिया।  बंगाल के प्रमुख स्वतंत्र शासक सिकंदर शाह (1357-93 ई०),

Read More »
History
Monisha

मुबारक खिलजी व खिलजी वंश का अंत

अलाउद्दीन खिलजी की मृत्यु के बाद मलिक काफूर ने अलाउद्दीन के 6 वर्षीय पुत्र उमर को गद्दी पर बैठाया ज़ाहिर है कि 6 वर्ष के बच्चे से तो शासन चलता नहीं तो वास्तविक बागडोर तो मलिक काफूर के हाथों में ही थी इसके साथ ही मलिक काफूर ने अलाउद्दीन की विधवा से शादी कर ली

Read More »
alauddin khilji
History
Monisha

अलाउद्दीन खिलजी | बाजार नीति | विजय अभियान

अलाउद्दीन खिलजी जलालुद्दीन खिलजी की हत्या करके 19 जुलाई 1296 में अलाउद्दीन खिलजी गद्दी पर बैठा अलाउद्दीन खिलजी जलालुद्दीन का भतीजा व कडा-मनिकपुर का इक्तादार था अलाउद्दीन के बचपन का नाम अली तथा गुरशास्प था अलाउद्दीन के पिता का नाम शिहाबुद्दीन था जो फिरोज खिलजी का भाई था शासक बनने पर उसने सर्वप्रथम मुल्तान पर

Read More »
History
Monisha

जलालुद्दीन खिलजी का इतिहास

1290 में शम्सुद्दीन कैमुर्स जो गुलाम वंश का अंतिम शासक था उसको मार कर जलालुद्दीन खिलजी ने खिलजी वंश की स्थापना की इसे खिलजी क्रांति भी कहा जाता है खिलजी कौन थे भारत में आने से पूर्व यह जाति अफगानिस्तान के उन भागों में निवास करती थी जिसे खिलजी कहा जाता है, इसलिए ये लोग

Read More »
gayasuddin balban
History
Monisha

ग्यासुद्दीन बलबन का इतिहास

बचपन में बलबन को मंगोल उठा कर ले गये थे और गजनी ले जाकर उन्होंने बसरा के ख्वाजा जमालुद्दीन के हाथों बेच दिया, ख्वाजा जमालुद्दीन उसे दिल्ली ले आये इल्तुतमिश ने बलबन को ग्वालियर विजय के बाद खरीदा और उसकी योग्यता से प्रवाभित हो कर उसे खासदार का पद सौंपा दिया रजिया के शासन काल

Read More »
History
Monisha

रज़िया सुल्तान-भारत की प्रथम महिला शासिका

इल्तुतमिश ने अपनी ही पुत्री रजिया को अपना उत्तराधिकारी नियुक्त किया रजिया सुल्तान दिल्ली सल्तनत की पहली तथा अंतिम महिला शासक थी रजिया 1236 ई0 में दिल्ली की शासिका बनी इन लोगो को पद पर नियुक्त किया रजिया बेगम ने ‘जमालुद्दीन याकूत’ को ‘अमीर-आखूर’ (अश्वशाला का प्रधान) नियुक्त किया रजिया ने मलिक हसन गौरी को

Read More »
History
Monisha

इल्तुत्मिश का इतिहास

इल्तुतमिश दिल्ली सल्तनत का वास्तविक संस्थापक कहलाता है इल्तुतमिश का शासनकाल 1210 ई0 से 1236 ई0 तक 26 वर्ष तक रहा यह कुतुबुद्दीन ऐबक का दामाद एवं गुलाम था दिल्ली का सुल्तान बनने से पहले इल्तुतमिश बदायूँ का सूबेदार था इल्तुतमिश का पूरा नाम शम्स-उद-दीन इल्तुतमिश था इसके माता पिता मध्य एशिया के इल्बारी कबीले

Read More »
kutubuddin
History
Monisha

कुतुबुद्दीन ऐबक – गुलाम वंश

गुलाम वंश (कुतुबुद्दीन ऐबक)  दिल्ली सल्तनत का पहला शासक कुतुबुद्दीन ऐबक था ऐबक का अर्थ होता है- चंद्रमुखी 1206 ई0 में कुतुबुद्दीन ऐबक के द्वारा गुलामवंश की स्थापना हुई कुतुबुद्दीन ऐबक का शासन काल सिर्फ चार वर्ष तक चला कुतुबुद्दीन ऐबक मुहम्मद गौरी का गुलाम था कुतुबुद्दीन ऐबक ने मुहम्मद गौरी की मृत्यु के बाद

Read More »
delhi saltnat
History
Monisha

दिल्ली सल्तनत – सभी वंश

दिल्ली की सल्तनत पर काबिज होने वाला पहला वंश गुलाम वंश था।, गुलाम वंश की स्थापना मुहम्मद गोरी के एक गुलाम कुतुबुद्दीन ऐबक ने की। कुतुबुद्दीन ऐबक कुतुबुद्दीन ऐबक ने लाहौर में शपथ ग्रहण किया, बाद में दिल्ली को अपनी राजधानी बनाया तथा दिल्ली सल्तनत की स्थापना की। कुतुबुद्दीन की दानशीलता से प्रभावित होकर मिन्हाज

Read More »
muhammad gauri
Audio Notes
Monisha

मुहम्मद गौरी (मुइजुद्दीन मुहम्मद बिन साम गोरे)

महमूद गजनी भारत में लूट पाट करके वापस चला गया, तुर्की साम्राज्य की भारत में स्थापना का कार्य मुहम्मद गोरी (मुइजुद्दीन मुहम्मद बिन साम गोरे) ने पूरा किया। गजनी एवं हिरात के बीच एक छोटा-सा राज्य था गौर। मुहम्मद गोरी ने 1173 ई० में वहाँ की सत्ता संभाली।  गौर का सुल्तान बनते वक्त मुहम्मद गोरी

Read More »