मध्यकालीन भारत के इतिहास के स्त्रोत – OneLiner Notes in Hindi

कौन-सा इस्लामिक विवरण ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है? अबुरिहान मुहम्मद बिन अलबरूनी के ‘तहकीक-ए-हिन्द’ नामक ग्रन्थ में विवरण।  मध्यकालीन भारतीय इतिहास की जानकारी के कौन-से चार प्रमुख स्त्रोत हैं?- ऐतिहासिक … आगे पढ़ें ..

कार्नवालिस संहिता क्या थी ?

(Cornwallis Code) 1793 ई० में लॉर्ड कार्नवालिस ने अपने न्यायिक सुधारों को इस नाम से प्रस्तुत किया। यह संहिता शक्तियों के पृथक्करण (Separation of Powers) के प्रसिद्ध सिद्धांत पर आधारित … आगे पढ़ें ..

खालसा पंत | सिखों का उदय (RISE OF SIKHS)

सिख शब्द का अर्थ होता है ‘शिक्षा प्राप्त करने वाला’ अथवा ‘शिष्य’। सिख धर्म की स्थापना गुरु नानक ने की। 1496 ई० की कार्तिक पूर्णीमा को नानक को आध्यात्मिक ज्ञान … आगे पढ़ें ..

मराठा राज्य | शिवाजी के नेतृत्व में मराठों का उदय

मराठों का उत्थान 17 वीं शताब्दी में मराठों का उत्थान हुआ वास्तव में दक्षिण भारत में चलने वाले सामाजिक धार्मिक जागरण का परिणाम था इस क्षेत्र ने अपनी भौगोलिक क्षेत्रता … आगे पढ़ें ..

मुगल प्रशासन (MUGHAL ADMINISTRATION)

मुगल शासन-प्रणाली में केंद्रीयकृत नौकरशाही की प्रमुखता थी। मुगल प्रशासन में सम्राट सभी विभागों का प्रधान होता था। उसे उदार निरंकुश कहा जा सकता है।  प्रशासन में बादशाह की मदद … आगे पढ़ें ..

मुगलों का पतन – पूरी जानकारी

औरंगजेब की मृत्यु  औरंगजेब की मृत्यु के बाद मुगल साम्राज्य का पतन प्रारम्भ हो गया था औरंगजेब ने किसी को भी अपना उत्तराधिकारी घोषित नहीं किया था औरंगजेब की मृत्यु … आगे पढ़ें ..

नूरुददीन मोहम्मद जहांगीर का इतिहास

जहाँगीर का जीवन परिचय नूरुद्दीन मोहम्मद जहांगीर का जन्म 30 अगस्त 1559 ई. को हुआ थाजहांगीर के बचपन का नाम सलीम था जहाँगीर की माता मरियम-उज-जमानी थी सलीम को सर्वप्रथम … आगे पढ़ें ..

हुमायुँ का इतिहास | मुग़ल साम्राज्य

 कौन था हुमायुँ नासुरुद्दीन मुहम्मद हुमायुँ बाबर का सबसे बडा पुत्र था,  बाबर की मृत्यु के तीन दिन पश्चात हुमायुँ का राज्याभिषेक 30 दिसम्बर 1530 आगरा के किले में समपन्न … आगे पढ़ें ..

sufi aandolan

सूफी आंदोलन (Sufi Movement)

सूफियों ने ईश्‍वर को सर्वोच्‍च सुंदर माना है और ऐसा माना जाता है कि सभी को इसकी प्रशंसा करनी चाहिए, उसकी याद में खुशी महसूस करनी चाहिए और केवल उसी … आगे पढ़ें ..

मध्यकालीन भारत में धार्मिक आंदोलन

भक्ति आंदोलन (Bhakti Movment) भक्ति आंदोलन का विकास वास्तविक रूप से 7वीं तथा 12वीं शताब्दी में हुआ।  शंकराचार्य ने एक नया धार्मिक आंदोलन चलाया जिसका धार्मिक अंश वेदांत तथा साधन … आगे पढ़ें ..

bahmani samrajy

बहमनी साम्राज्य (BAHMANI EMPIRE)

स्थापना 1347 ई० में हसन गंगू उर्फ अलाउद्दीन बहमनशाह ने बहमनी साम्राज्य की स्थापना की। बहमनी राज्य में आधुनिक महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश एवं उड़ीसा के क्षेत्र आते थे। इनमें देवगिरि … आगे पढ़ें ..