Press ESC to close

Or check our Popular Categories...

Economy

55   Articles
55
3 Min Read
60

कॉलर वर्कर ब्लू-कॉलर वर्कर- इस समूह में मज़दूर वर्ग शारीरिक श्रम के माध्यम से आय अर्जन करता है। व्हाइट-कॉलर वर्कर-यह एक वेतनभोगी पेशेवर है, जो आमतौर पर कार्यालय के प्रबंधन का कार्य करता है। गोल्ड-कॉलर वर्कर-इस प्रकार के वर्कर का उपयोग…

Continue Reading
3 Min Read
21

थोक मूल्य सूचकांक (Wholesale Price Index-WPI) थोक स्तर पर सामानों की कीमतों का आकलन करने के लिए थोक मूल्य सूचकांक (Wholesale Price Index-WPI) का इस्तेमाल किया जाता है। थोक मूल्य सूचकांक भारत में व्यापारियों द्वारा थोक में बेचे गए सामानों…

Continue Reading
4 Min Read
4

भुगतान संतुलन(Balance Of Payment-BoP)  भुगतान संतुलन का अभिप्राय ऐसे सांख्यिकी विवरण से होता है, जो एक निश्चित अवधि के दौरान किसी देश के निवासियों तथा विश्व के अन्य देशों के साथ हुए मौद्रिक लेन-देनों के लेखांकन को रिकॉर्ड करता है।…

Continue Reading
3 Min Read
17

बजट और संवैधानिक प्रावधान एक बजट भविष्य की योजनाओं और उद्देश्यों के आधार पर अनुमानित आय और व्यय का एक औपचारिक विवरण है। बजट एक दस्तावेज है जो प्रबंधन व्यवसाय के लिए अपने लक्ष्यों के आधार पर आगामी अवधि के लिए राजस्व और…

Continue Reading
8 Min Read
13

बजट शब्दावली वार्षिक वित्तीय विवरण भारतीय संविधान में सीधे तौर पर ‘बजट’ शब्द का जिक्र नहीं है, बल्कि इसे संविधान के आर्टिकल 112 में ‘एनुअल फ़ाइनेंशियल स्टेटमेंट’ कहा गया है। फ़ाइनेंशियल स्टेटमेंट में अनुमानित प्राप्तियों और ख़र्चों का उस साल…

Continue Reading
2 Min Read
5

RBI की शिकायत प्रबंधन प्रणाली(Complaint Management System-CMS) भारतीय रिजर्व बैंक  ने किसी भी विनियमित इकाई के खिलाफ शिकायत दर्ज करने के लिये एकल खिड़की के रूप में RBI की वेबसाइट पर शिकायत प्रबंधन प्रणाली (CMS) की शुरुआत की है। इस…

Continue Reading
3 Min Read
3

सार्वजनिक वितरण प्रणाली(Public Distribution System-PDS) यह भारत में सरकार द्वारा प्रबंधित एक प्रणाली हैजिसमे समाज के गरीब वर्गों को भोजन, अनाज और अन्य आवश्यक वस्तुएँ प्रदान करते हैं। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत स्थापित ‘उचित मूल्य की दुकानों’ (FPS) या…

Continue Reading
5 Min Read
42

संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन फ्रेमवर्क सम्मेलन (UNFCCC) UNFCCC का का अर्थ ‘जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क’ से है। यह एक अंतर्राष्ट्रीय समझौता है जिसका उद्देश्य वायुमंडल में ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन को नियंत्रित करना है। UNFCCC सचिवालय संयुक्त राष्ट्र…

Continue Reading
3 Min Read
40

लघु वित्त बैंक(Small Finance Bank-SFB) लघु वित्त बैंक वे वित्तीय संस्थान हैं जो देश के उन क्षेत्रों को वित्तीय सेवाएँ प्रदान करते हैं जहाँ बैंकिंग सेवाएँ उपलब्ध नहीं हैं। SFB की स्थापना छोटी व्यावसायिक इकाईयों, छोटे और सीमांत किसानों, सूक्ष्म और…

Continue Reading
4 Min Read
8

विदेशी निवेश विदेशी निवेश एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके तहत भारत के बाहर के निवासी व्यक्तियों/कंपनी द्वारा भारत में निवेश करते हैं। विदेशी निवेश मुख्यतः दो तरीकों से होता है- 1.प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) 2.विदेशी पोर्टफोलियो निवेश (FPI) FDI और FPI…

Continue Reading
11 Min Read
76

1930 की महामंदी | Black Tuesday | दुनिया की अर्थव्यवस्था का सबसे ख़राब समय इससे पहले कि मै आपको 1930 की महामंदी के बारे में बताना शुरू करूँ पहले समझ लेते हैं आखिर मंदी क्या होती है सरल सी भाषा…

Continue Reading
68 Min Read
117

महत्वपूर्ण आर्थिक शब्दावली | Financial Terminology असंगठित क्षेत्र के उद्यम (informal sector enterprises)– 10 से कम श्रमिकों की संख्या वाले निजी क्षेत्र के उद्योग | अदृश्य मदें (Invisible items) – पर्यटन, जहाजरानी, वायु परिवहन, बीमा बैंकिंग, वित्तीय सेवाएं, सरकारी अनुदान,…

Continue Reading
1 Min Read
97

Economics Handwritten Notes in Hindi | Download PDF यह भी देखें – हिंदी स्टेनोग्राफी फ्री ई-बुक | Stenography in Hindi ebook PDF [PDF]वृत्त – 24 महत्वपूर्ण नियम | Circle Questions in Hindi PDF प्राचीन इतिहास – 101 तथ्यों में –…

Continue Reading
4 Min Read
265

कुटीर उद्योग धंधे का अर्थ एवं भारतीय अर्थव्यवस्था में कुटीर उद्योगों का महत्व:- कुटीर उद्योग धन्धे का अर्थ:- कुटीर उद्योग धन्धों से अर्थ उन कुटीर उद्योगों से है  जो पूर्णतया परिवार के सदस्यों की सहायता से आंशिक अथवा पूर्णकालिक व्यवसाय…

Continue Reading
13 Min Read
373

औद्योगिक क्रांति का अर्थ कारण एवं आविष्कारक तथा लाभ और उसके प्रभाव:- औद्योगिक क्रांति का अर्थ:- औद्योगिक क्रांति का साधारण अर्थ है- हाथों द्वारा बनाई गई वस्तुओं के स्थान पर आधुनिक मशीनों के द्वारा व्यापक स्तर पर निर्माण की प्रक्रिया…

Continue Reading
8 Min Read
494

बाजार का अर्थ एवं वर्गीकरण बाजार का अर्थ:- बोलचाल की आम भाषा में हम यह कह सकते हैं कि बाजार का आशय किसी ऐसे स्थान विशेष से हैं जहां किसी वस्तु या वस्तुओं के क्रेता और विक्रेता इकठ्ठा होते हैं।…

Continue Reading