स्वास्थ्य सूचकांक 2021(Health Index 2021)

स्वास्थ्य सूचकांक 2021

  • 27 दिसंबर, 2021 को नीति आयोग ने अपना चौथा स्वास्थ्य सूचकांक (Health Index) जारी किया।
  • नीति आयोग द्वारा, विश्व बैंक तथा केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के सहयोग से, स्वास्थ्य सूचकांक जारी किया गया है।
  • यह स्वास्थ्य सूचकांक राज्यों की स्वास्थ्य के क्षेत्र में तैयारी के प्रदर्शन पर आधारित होता है।
  • इस रिपोर्ट के अनुसार 47% राज्यों ने पिछले वर्ष की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है।
  • इस सूचकांक में उत्तर प्रदेश अंतिम स्थान पर रहा, किन्तु पिछले वर्ष की तुलना में स्कोर अधिक प्राप्त करके यह सर्वाधिक सुधार वाला राज्य बना।
  • सूचकांक में केरल लगातार 4 वर्षों से शीर्ष स्थान पर है।

यह स्वास्थ्य सूचकांक मुख्य रूप से तीन श्रेणियों पर आधारित होते हैं :-

स्वास्थ्य परिणाम

  • इसमें नवजात मृत्यु दर, मातृ मृत्यु दर, शिशु मृत्यु दर तथा जन्म के समय लिंगानुपात को शामिल किया जाता है।

शासन तथा बुनियादी ढांचा

  • इस श्रेणी के अंतर्गत संस्थागत प्रसव, नियुक्त व्यक्तियों की क्षमता तथा अस्पतालों में बुनियादी ढांचे को सम्मिलित किया जाता है।

महत्वपूर्ण इनपुट तथा प्रक्रिया

  • इस श्रेणी में हेल्थ केयर प्रोवाइडर तथा उनके द्वारा अनुशंसित कार्यात्मक स्वास्थ्य सुविधाएं, जन्म तथा मृत्यु रजिस्ट्रेशन, क्षय रोग के निदान में सफलता दर को सम्मिलित किया जाता है

स्वास्थ्य सूचकांक में तीन शीर्ष बड़े राज्य

  • प्रथम स्थान- केरल (स्कोर-82.2)
  • द्वितीय स्थान- तमिलनाडु (स्कोर-72.42)
  • तृतीय स्थान- तेलंगाना (स्कोर-69.96)

स्वास्थ्य सूचकांक में अंतिम तीन बड़े राज्य

  • 19वां- उत्तर प्रदेश (स्कोर-30.57)
  • 18वां- बिहार ( स्कोर-31)
  • 17वां- मध्य प्रदेश (स्कोर-36.72)

स्वास्थ्य सूचकांक में शीर्ष तीन छोटे राज्य

  • प्रथम स्थान- मिजोरम (स्कोर-75.77)
  • द्वितीय स्थान- त्रिपुरा (स्कोर-70.16)
  • तृतीय स्थान- सिक्किम (स्कोर-55.53)

स्वास्थ्य सूचकांक में अंतिम तीन छोटे राज्य

  • 8वां- नागालैंड (स्कोर-27)
  • 7वां- अरुणांचल प्रदेश (स्कोर-33.91)
  • 6वां- मणिपुर (स्कोर-34.67)

सूचकांक में शीर्ष तीन केंद्रशासित प्रदेश

  • प्रथम स्थान- दादरा नागर हवेली तथा दमन दीव (स्कोर-66.19)
  • द्वितीय स्थान- चंडीगढ़ (स्कोर-62.53)
  • तृतीय स्थान- लक्षद्वीप (स्कोर-51.88)

सूचकांक में अंतिम तीन केंद्रशासित प्रदेश

  • 7वां- अंडमान तथा निकोबार (स्कोर-44.74)
  • 6वां- जम्मू तथा कश्मीर (स्कोर-47)
  • 5वां- दिल्ली (स्कोर-49.85)