क्या है सीजोफ्रेनिया ( What is Schizophrenia in Hindi)

क्या है सीजोफ्रेनिया ( What is Schizophrenia in Hindi)


  • सीजोफ्रेनिया एक मानसिक बीमारी अर्थात मेंटल डिसआर्डर की स्थिति है, जिसमें पीड़ित व्यक्ति को अक्सर तरह-तरह आवाज़ें सुनाई देती रहती हैं और लगता है सभी लोग उनके ख़िलाफ़ षड़यंत्र रच रहे हैं।
  • यहां तक कि कई बार तो वे खुद को भगवान भी मान लेते हैं। सीजोफ्रेनिया ज्यादातर तब होता है, जब मनुष्य के दिमाग में मौजूद डोपामिन नामक एक केमिकल का का स्राव अधिक होने लगता है।
  • शोधकर्ताओं के अनुसार, दुनिया भर में सिजोफ्रेनिया से 2.1 करोड़ लोग पीड़ित हैं। इनमें से 80 फीसद मामले आनुवंशिक वजहों से हैं।

जापान के वैज्ञानिकों ने लगाया पता 


  • रिसर्च के जरिए वैज्ञानिकों ने ऐसी जीन की पहचान की है,जो इस बीमारी के बढ़ने में अहम भूमिका निभाता है।
  • नए शोध में आरटीएन4आर जीन की पहचान की गई है। इस विकार को यह जीन जटिल बना देता है।
  • इस खुलासे के बाद बीमारी के उपचार का नया रास्ता खोजा जा सकेगा।
  • जापान की ओसाका यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर तोशिहाइड यमाशिता ने कहा कि तंत्रिका सर्किट में गड़बड़ी के चलते सिजोफ्रेनिया की समस्या खड़ी होती है।
  • मेलिन संबंधित जीन्स का इस बीमारी से जुड़ाव है। ये तंत्रिका सर्किट को संकेत भेजने के लिए कंडक्टर के तौर पर काम करते हैं।
  • सिजोफ्रेनिया की पहचान में मेलिन की भूमिका हो सकती है।

#Schizophrenia Meaning in Hindi

2 thoughts on “क्या है सीजोफ्रेनिया ( What is Schizophrenia in Hindi)”

  1. सिजोफ्रेनिया जैसे मानसिक विकार उत्पन्न होने पर व्यक्ति बहुत ज्यादा डरा-डरा सा रहता है। अपने दैनिक कार्यों को ठीक ढंग से नहीं कर पाता है। इसके साथ-साथ वह अपने जीवन का आनंद नहीं उठा पाता है। इन सबके अलावा इसके गंभीर लक्षण इस प्रकार हैं-1.मति भ्रम हो जाना:
    मति भ्रम होने से तात्पर्य है कि ऐसे में व्यक्ति का मस्तिष्क एक भ्रम में रहता है। एक काल्पनिक दुनिया में रहने लगता है जिसमें उसे अलग-अलग तस्वीरें दिखने लगना, अलग-अलग तरह की आवाजें सुनाई देना आदि लक्षण दिखते हैं।

    2.हमेशा दूसरों के प्रति भ्रम में रहना:
    सिजोफ्रेनिया में पीड़ित व्यक्ति अपने आस-पास के लोगों पर बहुत ज्यादा शक करने लगता है। उसे यह लगता है हर कोई उसके बारें में साजिश कर रहा है। वह व्यक्ति जल्दी किसी पर भरोसा नहीं कर पाता है

  2. आपका ये लेख पढ़ा तो पता चला मेरा भाई इसी मानसिक समस्या का शिकार है। पहले तो यकीन करना मुश्किल था पर डॉक्टर से पूछा तो उन्होने भी यही लक्षण बताए अब उसका इलाज शुरू हो गया है। जानकारी के अभाव मे लोग उसे न जाने क्या क्या बोलते थे। हमे स्पर्ष्ट रूप से बताने के लिए आपका शुक्रिया।

Leave a Comment