भारतीय रक्षा-प्रतिरक्षा | थल सेना | वायु सेना | नौसेना

768
  • भारत की प्रतिरक्षा का मुख्य उद्देश्य न्यूनतम एवं विश्वसनीय प्रतिरोधक क्षमता के विकास के साथ भारतीय उपमहाद्वीप में शान्ति को बढ़ावा देना -एवं उसे स्थायित्व प्रदान करना ।
  • 1946 में गठित अंतरिम सरकार में भारत के रक्षामंत्री बलदेव सिंह थे।
  • 1947 में देश के विभाजन के समय 45 रेजीमेन्ट मिली जिनमे कुल :. 5 लाख सैनिक थे ।
  • भारतीय रक्षा सेनाओं का सर्वोच्च कमांडर राष्ट्रपति होता है ।
  • रक्षा मंत्रालय का प्रमुख रक्षामंत्री होता है जो संसद के प्रति उत्तरदायी होता है ।
  • भारतीय सशस्त्र सेनाओं के तीन अंग है- थलसेना, वायुसेना व नौसेना ।
  • तीनों सेनाओ के अलग-अलग सेनाध्यक्ष होते हैं ।
  • तीनों सेनाध्यक्षों की एक समिति होती है जिसकी अध्यक्षता वरिष्ठतम अध्यक्ष करता है ।

भारतीय थल सेना

  • भारतीय रक्षा पंक्ति में थल सेना का प्रथम व प्रधान स्थान है ।
  • थल सेना का मुख्यालय नई दिल्ली में है ।
  • थल सेना पांच कमानों में संगठित है- (1) पश्चिमी कमान (मुख्यात्नय- शिमला), (2) पूर्वी कमान (कोलकाता), (3) उत्तरी कमान (उधमपुर) दक्षिणी कमान (पुणे) एवं मध्य कमान (लखनऊ) ।
  • प्रत्येक कमान लेफ्टिनेंट जनरल पद के जनरल आफिसर कमांडिंग-इन- चीफ के अधीन होती है ।
  • प्रत्येक कमान कोर, डिवीजन, ब्रिगेट, बटालियन, कंपनी, लेदन व सेस्शन में विभाजित होती है ।
  • थल सेना का अध्यक्ष जनरल होता है ।

भारतीय वायु सेना

  • भारतीय वायु सेना का मुख्यालय नई दिल्ली में है ।
  • भारतीय वायु सेना का अध्यक्ष, एयर चीफ मार्शल होता है ।
  • वायु सेनाध्यक्ष की सहायता के लिए छ: मुख्य स्टाफ अधिकारी है । भारतीय वायु सेना पांच लड़ाकू कमानों एव दो सहायक कमानी में संगठित है – (1) पश्चिमी वायु कमान (मुख्यालय-नई दिल्ली), (2) पूर्वी वायु सेना कमान (शिलांग), (3) दक्षिणी वायु सेना कमान, (4 ) मध्य वायु सेना कमान (इलाहाबाद), (5) दक्षिणी पश्चिमी वायु सेना कमान (जोधपुर), (6) प्रशिक्षण कमान (बंगलौर), (7) मेटीनेंस कमान (नागपुर)|।

भारतीय नौसेना

  • भारतीय नौसेना का मुख्यालय नई दिल्ली में है ।
  • भारतीय नौसेना का प्रमुख एडमिरल होना है ।
  • भारतीय नौसेना का गठन तीन कमानों में किया गया है- (1) पश्चिमी नौसेना कमान (मुख्यालय-मुम्बई), (2) पूर्वी नौसेना कमान (विशाखापट्टनम) एवं (3) दक्षिणी नौसेना कमान (कोच्चि) ।
  • प्रत्येक कमान का प्रमुख वाइस एडमिरल पद का फ्लैग आफिसर कमांडिंग- इन-चीफ होता है ।

armed forces of india1, indian army strength, divisions in indian army, indian army power in world, indian air force, indian army strength vs chinese army strength