पंजाब | सामान्य ज्ञान | सभी महत्वपूर्ण तथ्य

पंजाब | सामान्य ज्ञान | सभी महत्वपूर्ण तथ्य

  • स्थापना -15 अगस्त, 1947 प्रान्त तथा 26 जनवरी. 1950, राज्य (भाग-ए) के अन्तर्गत वर्ष 1956 तक
  • क्षेत्रफल -50382 वर्ग किमी
  • भाषा -पंजाबी
  • लिंगानुपात -893
  • राजधानी -चंडीगढ़
  • जनसंख्या -27704236
  • साक्षरता -76.68%
  • जनसंख्या घनत्व -550
  • जिले -22

इतिहास

  • पंजाब में मौर्य, वैक्त्रियन, यूनानी, शक, कुषाण, गुप्त जैसी अनेक शक्तियां का उत्थान व पतन हुआ |
  • बाद में दिल्ली सल्लनत तथा मुगल वशों का पजाब पर अधिकार रहा।
  • गुरुनानक साहब ने सिख पन्थ की यही स्थापना की। दसवें गुरु गोविन्द सिंह ने सिखों को खालसा पन्थ के रूप मे सगठित किया।
  • महाराजा रणजीत सिंह का भी यहाँ शासन था। वर्ष 1849 में पँजाब ब्रिटिश शासन के अधीन हो गया।
  • यही से लाला लाजपत राय तथा अजीत सिंह ने स्वतन्त्रता के लिए प्रयास किए। पूर्वी पंजाब की आठ रियासतों को मिलाकर नए राज्य ‘पेप्सू’ तथा पूर्वी पंजाब राज्य संघ-पटियाला का निर्माण किया गया।
  • वर्ष 1956 में पेप्सू को पंजाब में सम्मिलित कर दिया। वर्ष 1966 में हरियाणा को उससे अलग किया गया

महत्वपूर्ण तथ्य

  • पंजाब देश के उत्तर-पश्चिमी भाग में स्थित है । इसके उत्तर में जम्मू कश्मीर पश्चिम में पाकिस्तान, उत्तर-पूर्व में हिमाचल प्रदेश और दक्षिण मे हरियाणा तथा राजस्थान हैं ।
  • नदियाँ – व्यास, चिनाब,रावी,सतलज,झेलम, पोंग,रंजीत सागर आदि ।
    जनजातियाँ -सन्ती, सपेरा, संसी, सैनी,रावल, रविदासिया,कलन्दर, पेंजा, नूनगर, नालबन्द, नक्कोकरा, मिरासी|
  • संस्थान – नेताजी सुभाषचन्द्र बोस इंस्टिट्यूट ऑफ़ स्पोर्ट्स (पटियाला), पंजाब डिजिटल लाइब्रेरी, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान|
  • कृषि  – पिछले दो दशकों मे पंजाब ने गेहूँ का 40 से 50% अधिक उत्पादन कर देश की खाद्य टोकरी और भारत का अनाज भण्डार होने का ख्रिताब प्राप्त किया है पजाब में धान तथा गेंहूँ की उत्पादकता क्रमश: 4022 किग्रा/हेक्टेयर तथा 4462 किग्रा/हेक्टेयर है जबकि राष्ट्रीय औसत क्रमशः 2178 किग्रा/हेक्टेयर तथा 2907 किग्रा/हेक्टेयर है|
  • बाँध – भाखड़ा, पोंग और रंजीत सागर।
  • त्यौहार -त्यौहार दशहरा, दिवाली, होली, मुक्तसर का माघी मेला, पटियाला का वसन्त, किला रायपुर मे ग्रामीण खेल, तलबण्डी साबू में वैशाखी, आनन्दपुर साहिब का होला मोहल्ला, सरहिन्द मे रोजा शरीफ पर उर्स-छप्पर मेला, फरीदकोट में शेख फरीद आगम पर्व, सरहिन्द में शहीदी जोर मेला आदि।
  • पुरस्कार -पुरस्कार पंजाब रत्न अवार्ड (साहित्य, संगीत, सामाजिक)।
  • लोक संगीत -शास्त्रीय संगीत; जैसे-ख्याल, ठुमरी, गजल तथा कबाली इत्यादि। भांगड़ा (शादी, पार्टियो), गिद्‌दा (महिलाओ) डांकरा (इसे गतका नृत्य भी कहा जाता है) जुल्ली धमाल, लुड़डी झूमर (झूमर ताल पर आधारित है)।
  • पर्यटन स्थल- अमृतसर में स्वर्ण मन्दिर, दुर्गियाना मन्दिर तथा जलियाँवाला बाग, आनन्दपुर साहिब में तख्त श्री केशगढ़ साहिब और खालसा सांस्कृतिक परिसर, भाखड़ा बाँध, पटियाला का किला, हरिकेपट्‌टन इत्यादि पर्यटन स्थल हैं ।
Total
1
Shares
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts
हमारा Android App (GuideBook-The Most Powerful Preparation App) डाउनलोड कीजिये !
Download