प्रथम आंग्ल मैसूर संघर्ष- First Anglo Mysore War Audio Notes

Table of Contents

आंग्ल मैसूर युध्द

  • इसमें चार युध्द अंग्रेजों और मैसूर राज्य के हुए प्रथम आंग्ल मैसूर युध्द 1767 से 1769 तक चला
  • यहाँ अंग्रेजों ने बंगाल विजय के पश्चात अपना ध्यान दक्षिण भारत पर लगाना शुरु कर दिया

हैदर अली का शासन व नीति

  • जहाँ मैसूर में शक्तिशाली हैदर अली का शासन था
  • 1767 ई. में हैदर अली के विरुध्द अंग्रेजों, निजाम, मराठों एवं कर्नाटक के नबाब का एक संयुक्त मोर्चा बनाया गया लेकिन हैदर अली ने अपनी कूट नीति से मराठों और निजामों को अपनी ओर मिला लिया

मद्रास पर घेरा

  • डेढ वर्ष के अनिर्णायक युध्द के पश्चात हैदरअली ने बाजी पलट दी और मद्रास को घेर लिया

अंग्रेजों व हैदर अली की संधि

  • अंग्रेज भयभीत हो गये और उनको हैदर अली के साथ 4 अप्रैल 1769 ई. को एक अपमान जनक संधि करनी पडी और दोनों पक्षों ने एक दूसरे के जीते हुए प्रदेश लौटा दिये
  • इस संधि के तहत तय हुआ कि दोंनों पक्ष बाहरी आक्रमण से एक दूसरे की रक्षा करेंगें परन्तु 1771 के मराठा आक्रमण के समय हैदरअली ने अंग्रेजों की सहायता की
  • अंग्रेजों ने इस पर ध्यान ना देकर विश्वासघात किया और हैदरअली जीवनभर अंग्रेजों से घृणा करता रहा

ऑडियो नोट्स सुनें

[media-downloader media_id=”1627″]

 

modern history notes, uppsc/upsc/ssc, first anglo mysore war, haider ali

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

Leave a Comment