प्रथम आंग्ल मैसूर संघर्ष- With Audio Notes

आंग्ल मैसूर युध्द

  • इसमें चार युध्द अंग्रेजों और मैसूर राज्य के हुए प्रथम आंग्ल मैसूर युध्द 1767 से 1769 तक चला
  • यहाँ अंग्रेजों ने बंगाल विजय के पश्चात अपना ध्यान दक्षिण भारत पर लगाना शुरु कर दिया

हैदर अली का शासन व नीति

  • जहाँ मैसूर में शक्तिशाली हैदर अली का शासन था
  • 1767 ई. में हैदर अली के विरुध्द अंग्रेजों, निजाम, मराठों एवं कर्नाटक के नबाब का एक संयुक्त मोर्चा बनाया गया लेकिन हैदर अली ने अपनी कूट नीति से मराठों और निजामों को अपनी ओर मिला लिया

मद्रास पर घेरा

  • डेढ वर्ष के अनिर्णायक युध्द के पश्चात हैदरअली ने बाजी पलट दी और मद्रास को घेर लिया

अंग्रेजों व हैदर अली की संधि

  • अंग्रेज भयभीत हो गये और उनको हैदर अली के साथ 4 अप्रैल 1769 ई. को एक अपमान जनक संधि करनी पडी और दोनों पक्षों ने एक दूसरे के जीते हुए प्रदेश लौटा दिये
  • इस संधि के तहत तय हुआ कि दोंनों पक्ष बाहरी आक्रमण से एक दूसरे की रक्षा करेंगें परन्तु 1771 के मराठा आक्रमण के समय हैदरअली ने अंग्रेजों की सहायता की
  • अंग्रेजों ने इस पर ध्यान ना देकर विश्वासघात किया और हैदरअली जीवनभर अंग्रेजों से घृणा करता रहा

ऑडियो नोट्स सुनें

Total
0
Shares
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts
Read More

1857 के विद्रोह के कारण [Audio Notes]

Table of Contents Hide राजनैतिक कारणआर्थिक कारणसामाजिक कारणधार्मिक कारणतत्कालिक कारणविद्रोह की असफलता के अन्य कारण विद्रोह के परिणामऑडियो नोट्स…
Read More

भारतीय संविधान की विशेषताएं | Video | Quick Revision

Table of Contents Hide भारतीय संविधान की विशेषताएंसंशोधन प्रक्रिया अन्य विशेषतायें प्रस्तावना भारतीय संविधान के स्त्रोत भारतीय संविधान की विशेषताएं…
Read More

पुष्यभूति वंश | हर्षवर्धन

गुप्त वंश के पतन के पश्चात् पुष्यभूति ने थानेश्वर में एक नवीन राजवंश की स्थापना की जिसे 'पुष्यभूति वंश' कहा गया। हर्षवर्द्धन (इस राजवंश का सबसे प्रतापी शासक) के लेखों में उसके केवल चार पूर्वजों नरवर्द्धन, राज्यवर्द्धन, आदित्यवर्द्धन एवं प्रभाकरवर्द्धन का उल्लेख मिलता है।
हमारा Android App (GuideBook-The Most Powerful Preparation App) डाउनलोड कीजिये !
Download