दादरा एवं नगर हवेली | सामान्य ज्ञान | सभी महत्वपूर्ण तथ्य

दादरा एवं नगर हवेली | सामान्य ज्ञान | सभी महत्वपूर्ण तथ्य

  • स्थापना -11 अगस्त, 1981
  • क्षेत्रफल -491 वर्ग किमी
  • भाषा -भीली, मिलोड्री, गुजराती, हिन्दी
  • राजधानी -सिलवासा
  • जनसंख्या -342853
  • साक्षरता -77.65%
  • जनसंख्या घनत्व -698
  • जिलों की संख्या -1
  • लिंगानुपात -775

इतिहास

  • इस प्रदेश पर 1779 ई. तक मराठों तथा फिर वर्ष 1954 तक पुर्तगाली साम्राज्य का शासन था।
  • जनता द्वारा 3 अगस्त, 1954 को इसे मुक्त करा लिया गया। वर्ष 1954-61 तक यह प्रदेश लगभग स्वतन्त्रता रूप से काम करता रहा और इसे स्वतन्त्र दादरा एवं नगर हवेली प्रशासन ने बताया। 11 अगस्त, 1961 को यह प्रदेश भारतीय संघ में शामिल हो गया।

अन्य महत्वपूर्ण तथ्य

  • यह गुजरात तथा महाराष्ट्र राज्यों से घिरा हुआ है । यह दो भागों में बाँटा है-दादरा तथा नगर हवेली ।
  • कृषि -यहाँ धान, पहाड़ी बाजार प्रमुख फसले हैं तथा यहाँ 40% क्षेत्र पर वन है।
  • त्यौहार -दिवसों त्यौहार (ढोडिया और वर्ली जनजातियों द्वारा) भावड़ा त्यौहार (कोली, कोकना जनजातियों द्वारा) काली पूजा त्यौहार ।
  • जनजातियाँ -ढोडिया, वर्ली, कोली, कोकना इत्यादि।
  • पर्यटन स्थल -ताड़केश्वर मन्दिर, वृन्दावन, खानवेल का हिरण पार्क, बाणगंगा झील और द्वीप उद्यान, वनविहार उद्यान लघु प्राणी विहार, बाल उद्यान, आदिवासी म्यूजियम, सिलवासा स्थित हिरवावन उद्यान इत्यादि।
  • परिवहन- यह केन्द्र शासित प्रदेश पूरी तरह महाराष्ट्र और गुजरात के सड़क नेटवर्क पर निर्भर है क्योंकि मुम्बई से इन दोनों राज्यों को पार करने के उपरान्त ही प्रदेश में पहुँचा जा सकता है ।
  • वर्तमान में सड़कों की कुल लम्बाई 635 किमी है जिसमें से 57० किमी पक्की हैं । लगभग सभी गाँव ऐसी सड़कों से जुड़े हैं जो हर मौसम में ठीक रहती हैं । मुम्बई से अहमदाबाद का रेलमार्ग वापी से भी जुड़ा है ।
  • निकटतम हवाई अड्‌डा मुम्बई है। बढ़ते यातायात की जरूरतों के मद्‌देनजर प्रदेश में सड़कें चौड़ी करने का काम हाल ही में शुरू किया गया है ।
  • तेजी से बढ़ रहे औद्योगीकरण को देखते हुए सिलवासा और आस-पास के क्षेत्रों में अन्य छुट-पुट कार्यों के अतिरिक्त चार लेन सड़क-निर्माण का कार्य शुरू किया गया है ।
  • दादरा-तिगहरा दो लेन का बनाने का कार्य पूरा हो गया है। सिलवासा-करोली के बीच 5.7 किमी रोड को भी चार लेन का बनाया जा रहा है ।

Leave a Comment