अण्ड्मान निकोबार द्वीपसमूह | सामान्य ज्ञान | सभी महत्वपूर्ण तथ्य

अण्ड्मान निकोबार द्वीपसमूह | सामान्य ज्ञान | सभी महत्वपूर्ण तथ्य

  • स्थापना -1 नवम्बर, 1956
  • क्षेत्रफल -8249 वर्ग किमी
  • लिंगानुपात -878
  • मुख्य भाषा -हिन्दी, निकोबारी, तमिल, बंगला और तेलुगू
  • राजधानी -पोर्ट ब्लेयर
  • जनसंख्या -379944
  • साक्षरता -86.27%
  • जनसंख्या घनत्व -46
  • जिलों की संख्या -3

इतिहास

  • अंग्रेजों द्वारा इस पर अधिकार किया गया । द्वितीय विश्वयुद्ध में जापान द्वारा इस पर अधिकार कर लिया गया।
  • कुछ समय के लिए द्वीप नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की आजाद हिन्द फौज के अधीन भी रहा । ब्रिटिश सरकार द्वारा क्रान्तिकारियों को भारत से अलग रखने के लिए इसका प्रयोग किया जाता था ।
  • अत : यह स्थान आन्दोलनकारियों के बीच काला पानी के नाम से जाना जाता था। पोर्ट ब्लेयर में सेल्युलर जेल का निर्माण किया गया था ।

भौगोलिक स्थिति

  • इसके उत्तर मे अण्डमान द्वीपसमूह और दक्षिण मे निकोबार द्वीपसमूह पूर्व में अण्डमान सागर तथा पश्चिम मे बगाल की खाड़ी स्थित है।

जनजातियाँ

  • ग्रेट अण्डमानी. ओगो, जरावा. सेण्टीनली, निकोबारी, शोम्पेन इत्यादि।

पर्यटन स्थल

  • यहाँ पर सेल्युलर जेल. रॉस आइलेण्ड तथा हैवलॉक आइलैण्ड जैसे विशिष्ट स्थल है।
  • अन्य प्रमुख पर्यटन स्थल हैं-मानक विज्ञान संग्रहालय, समुद्री सग्रहालय,जलक्रीडा परिसर. गाँधी पार्क, उत्तरी खाड़ी, वारपर आइलैण्ड. कोर्बिन्स कोव बीच तथा नील आइलैण्ड इत्यादि।

कृषि

  • धान यहाँ की प्रमुख खाद्यान्न फसल है, जो अण्डमान द्वीपसमूह मे उगाई जाती है। निकोबार द्वीपसमूह की मुख्य नकदी फसल नारियल और सुपारी है।
  • यहाँ बहुफसल व्यवस्था के अन्तर्गत मसाले, मिर्च. लीग, जायफल तथा दालचीनी भी उगाए जाते है|

वन

  • इन द्वीपों के कुल भौगोलिक क्षेत्र का 7171 वर्ग किमी भाग वनों से ढका हुआ है। इन द्वीपी पर लगभग सभी प्रकार के वन जैसे-उष्णकटिबन्धीय आर्द्र सदाबहार वन,उष्णकटिबन्धीय अर्द्ध-सदाबहार वन, आर्द्र पर्णपाती, गिरि शिखिर पर होने वाले तथा तटवर्ती और दलदली वन पाए जाते हैं।
  • अण्डमान-निकोबार में विभिन्न प्रकार की लकडियाँ पाई जाती है। सबसे बहुमूल्य लकडियाँ पाडोक तथा गरजन की है। ये निकोबार में नही मिलतीं।

वन्यजीव

  • इन द्वीपों मे 96 वन्यजीव अभ्यारण्य, नौ राष्ट्रीय पार्क तथा एक जैव सरक्षित क्षेत्र (बायोरिजर्व) है।
  • स्तनपायी अब तक अधिसूचित कुल 55 स्थलीय एव सात समुद्री स्तनपायी प्रजातियो मे से 32 क्षेत्र विशेष मे पाई जाती है।
  • पक्षी इन द्वीपो मे पक्षियो की 246 प्रजातियाँ एव उप-प्रजातियाँ मिलती है जिनमे से 99 प्रजातियाँ एव उप-प्रजातियाँ क्षेत्र विशेष मे पाई जाती है।
  • सरीसृप इस राज्य मे सरीप्रपों की 76 प्रजातियाँ पाई जाती है जिसमें से 24 क्षेत्र विशेष तक सीमित है ।
  • समुद्री जीव इन द्वीपो के समुद्र में मछलियो की 1200 से अधिक प्रजातियाँ, इकाइनो डर्म की 35०, घोघा (मोलस्क) समूह की 1000 तथा अन्य सूक्ष्म प्रजातियाँ पाई जाती है।
  • कशेरुकी प्राणियो मे मुख्यत ड्‌यूगॉग, डॉल्फिन, ह्वेल, खारे पानी के घडियाल, समुद्री कछुए तथा समुद्री सर्प इत्यादि मिलते है।
  • मूँगा एवं प्रवाल अभी तक 61 वर्गो के प्रवालो की 179 प्रजातियो के बारे में जानकारी मिली है। पूर्वी तट पर मुख्यत: झब्बेदार (फ्रिजिग) प्रकार के तथा पश्चिमी तट पर अवरोधी (बैरियर) प्रकार के प्रवाल पाए जाते है।
Total
0
Shares
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts
Read More

राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार

Table of Contents Hide विशेष पुरस्कारफीचर फिल्म खंडस्वर्ण कमलरजत कमल>बंद पुरस्कार[संपादित करें]गैर-फीचर फिल्म खंडस्वर्ण कमलरजत कमलबंद पुरस्कारसिनेमा पर…
Read More

विश्व के 10 सर्वश्रेष्ठ विश्विद्यालय

हावर्ड विश्विद्यालय   –   अमेरिका येल विश्विद्यालय  –  अमेरिका इम्पीरियल कॉलेज  –  लन्दन (बिट्रेन) शिकागो विश्विद्यालय  –  अमेरिका कैम्ब्रिज विश्विद्यालय  –…
Read More

ओलंपिक में भारत

ओलंपिक में भारत लंदन ओलंपिक तक भारतवर्षीय 1928 से लेकर 2012 तक 24 पदक जीत चुका है हालांकि…
हमारा Android App (GuideBook-The Most Powerful Preparation App) डाउनलोड कीजिये !
Download