औद्योगिकरण का अर्थ एवं लाभ

Table of Contents

औद्योगिकरण का अर्थ एवं लाभ (Meaning And Profit Of Industrialization)

  • प्राथमिक उत्पादकों को विनिर्माण उत्पादों में रुपांतरित करने वाली गतिविधियों को औद्योगिकरण कहा जाता है |इसके अंतर्गत विनिर्माण प्रक्रिया के माध्यम से प्राथमिक उत्पादकों को द्वितीयक उत्पादों में परिवर्तित किया जाता है |
  • द्वितीयक क्षेत्र को ही औद्योगिकरण क्षेत्र भी कहा जाता है| विनिर्माण, विद्युत, गैस प्रसंस्करण क्षेत्र को औद्योगिक क्षेत्र में रखा जाता है –
  1. अर्थव्यवस्था में उत्पादन के मूल्यवर्धन में सहायक |
  2. कृषि विकास में प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से सहायक |
  3. रोजगार सृजन में सहायक |
  4. निर्यात संवर्धन में सहायक |
  • भारत में वर्ष 1950-51 में कुल जीडीपी में औद्योगिक क्षेत्र का योगदान केवल 15.1 प्रतिशत था जो वर्ष 2009-10 में बढ़कर 28.1% एक हो गया देश के कुल रोजगार में औद्योगिक क्षेत्र का हिस्सा भी बढ़कर 21.9 पर्सेंट हो चुका है

पंचवर्षीय योजनाएं एवं औद्योगिक विकास (Five Year Plans and Industrial Development)

  • पहली पंचवर्षीय योजना में औद्योगिक विकास में सार्वजनिक एवं निजी दोनों क्षेत्रों की भूमिका को स्वीकार करते हुए मिश्रित अर्थव्यवस्था की शुरुआत की गई यह मूलतः कृषि एवं संबंधित क्षेत्र पर केंद्रित योजना थी और इसमें कुल व्यय का केवल 2.8% भाग ही उद्योग एवं खनिज क्षेत्र को प्रदान किया गया |
  • दूसरी पंचवर्षीय योजना व्यापक औद्योगिकरण से संबंधित आधारभूत योजना थी इस योजना में देश में तीव्र औद्योगिक विकास सुनिश्चित करने के लिए आधारभूत उद्योगों की स्थापना पर जोर दिया गया इस योजना के अंतर्गत कुल व्यय की 20.1% राशि उद्योग क्षेत्र को प्रदान की गई |
  • तीसरी पंचवर्षीय योजना दूसरी योजना की निरंतरता में चल रही योजना थी इसमें भी कुल व्यय का 20.1 प्रतिशत भाग औद्योगिक क्षेत्र में खर्च किया गया |
  • चौथी पंचवर्षीय योजना में औद्योगिक विकास में किया गया व्यय कुल व्यय का 18.2% था |
  • पांचवी पंचवर्षीय योजना में कुल व्यय का लगभग 22.8 प्रतिशत भाग उद्योग पर किया गया जो सभी योजना में सर्वाधिक था |
  • छठी पंचवर्षीय योजना के दौरान औद्योगिक नीति में कई बदलाव किए गए तथा उदारीकरण की प्रक्रिया शुरु की गई इस योजना में कुल व्यय का 13.8% औद्योगिक क्षेत्र में किया गया |
  • सातवीं पंचवर्षीय योजना में कुल व्यय का लगभग 11.9 प्रतिशत भाग औद्योगिक क्षेत्र में व्यय किया गया |
  • आठवीं पंचवर्षीय योजना में कुल व्यय का लगभग 9.3% भाग औद्योगिक क्षेत्र में व्यय किया गया |
  • नौवीं पंचवर्षीय योजना इस योजना में कुल योजनागत व्यय का 5% औद्योगिक क्षेत्र को प्रदान किया गया |
  • दसवीं पंचवर्षीय योजना में कुल व्यय का मात्र 3.9% भाग ही औद्योगिक क्षेत्र में व्यय किया गया |
  • ग्यारहवीं पंचवर्षीय योजना में 10% औद्योगिक विकास का लक्ष्य निर्धारित करते हुए क्षेत्र को कुल व्यय का लगभग 4.5% भाग प्रदान किया गया |
  • 12वीं पंचवर्षीय योजना में 9.6% औद्योगिक विकास का लक्ष्य निर्धारित किया गया |
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp