सोडियम और सोडियम के यौगिक

सोडियम

सोडियम अत्यंत क्रियाशील होने के कारण प्रकृति में मुक्त अवस्था में नहीं पाई जाती है संयुक्त अवस्था में यह क्लोराइड, नाइट्रेट, कार्बोनेट, बोरेट तथा सल्फेट के रुप में पाई जाती है

सोडियम धातु का निष्कर्षण कस्टनर विधि या डाउन विधि द्वारा किया जाता है

यह चांदी के समान सफेद धातु है यह मुलायम होती है एवं चाकू से आसानी से काटी जा सकती है पानी से हल्की होने के कारण है यह पानी पर तैरने लगती है

अधिक क्रियाशील होने के कारण यह जल और वायु से आसानी से क्रिया कर लेती है अतः इसे केरोसिन तेल में डुबोकर रखते हैं

सोडियम का प्रयोग शीतलको, नाभिकीय रिएक्टरों में कृत्रिम रबड़ के बहुलीकरण में उत्प्रेरक के रूप में किया जाता है सोडियम लैंप का निर्माण में भी सोडियम का उपयोग किया जाता है सोडियम लेड मिश्र धातु का उपयोग टेट्राएथिल लेड नामक अपस्फोटनरोधी यौगिक बनाने में होता है


सोडियम के यौगिक


सोडियम क्लोराइड

इसका रासायनिक सूत्र NaCl होता है इसको साधारण नमक या रॉक लवण के नाम से भी जाना जाता है यह सामान्यतया समुद्री जल के वाष्पीकरण से प्राप्त किया जाता है |

स्वयं आद्रताग्राही नहीं होता है बल्कि इसमें मिले हुए मैग्नीशियम क्लोराइड के कारण यह इस तरह की प्रकृति दर्शाता है |

सोडियम क्लोराइड मानव के भोजन का आवश्यक अंग है डिहाइड्रेशन के समय शरीर में सोडियम क्लोराइड कम हो जाता है इसे बर्फ के साथ मिलाकर हिम-मिश्रण बनाया जाता है इसका उपयोग अचार के परिरक्षण तथा मांस एवं मछली के संरक्षण में किया जाता है |


सोडियम कार्बोनेट

इसका रासायनिक सूत्र Na2CO3 10H2होता है यह धोने वाला सोडा या वाशिंग सोडा के नाम से भी जाना जाता है व्यापारिक तौर पर इसका निर्माण अमोनिया सोडा विधि (साल्वे विधि) द्वारा किया जाता है |

इसमें अपमार्जक गुण पाए जाते हैं इसका उपयोग कपड़े धोने, घरेलू कार्य में सफाई, अपमार्जक के निर्माण तथा कठोर जल के शुद्धीकरण में किया जाता है इसका उपयोग बोरेक्स, साबुन, कांच कॉस्टिक सोडा आदि के उत्पादन में किया जाता है |


सोडियम बाइकार्बोनेट

रसायनिक सूत्र NaHCO3 होता है यह खाने का सोडा या बेकिंग सोडा के नाम से भी जाना जाता है

सोडियम बाइकार्बोनेट का प्रयोग बेकिंग पाउडर के निर्माण में होता है सोडियम बाईकार्बोनेट के अतिरिक्त बेकिंग पाउडर में टार्टरिक अम्ल भी उपस्थित होता है |

गर्म करने पर सोडियम बाइकार्बोनेट अम्ल के साथ अभिक्रिया करके कार्बन डाइऑक्साइड उत्पन्न करता है जिसके कारण केक फूल जाता है और हल्का हो जाता है

इसका उपयोग रसोईघरों में पेट की अम्लीयता को कम करने की औषधि के रूप में, बेकिंग पाउडर के रूप में अग्निशामक यंत्रों में किया जाता है |


सोडियम हाइड्रॉक्साइड

इसका रासायनिक सूत्र NaOH है यह कास्टिक सोडा दाहक सोडा के नाम से भी जाना जाता है |

इसका उपयोग कागज, रंग, कृत्रिम रेशम, साबुन आदि के निर्माण में होता है पेट्रोलियम पदार्थ के शुद्धिकरण में भी इसका प्रयोग किया जाता है |


  • सोडियम सल्फेट (Na2SO4 ⋅10H2O) को ग्लोबर लवण कहा जाता है |
  • सोडियम नाइट्रेट (NaNO3) चिली साल्टपीटर कहा जाता है |
  • सोडियम थायोसल्फेट (Na2S2O3⋅  5H2O) का उपयोग फोटोग्राफी में नेगेटिव और पॉजिटिव का स्थायीकरण करने में होता है या हाइपो के नाम से भी जाना जाता है |
  • बोरेक्स या सुहागा का रासायनिक सूत्र Na2B4O7 ⋅ 10H2O है |

1 thought on “सोडियम और सोडियम के यौगिक”

Leave a Comment