धातुएँ एवं उनके यौगिक, धातुओं के सामान्य गुण

धातुएँ एवं उनके यौगिक


धातुएँ

वह तत्व जिनमें एक विशेष प्रकार की धात्विक चमक पाई जाती है धातु कहलाते है |सामान्यतः धातुओं में इलेक्ट्रॉन निकाल कर धनायन बनाने की प्रवृत्ति पाई जाती है |

प्राचीन समय में ज्ञात धातुओं की संख्या केवल 8 थी | यह धातुएँ थी – सोना, चांदी, टिन, सीसा, लोहा, पारा तथा एंटी मनी | अतः इन्हें प्रागैतिहासिक धातु अभी कहा जाता है वर्तमान में ज्ञात धातुओं की संख्या 90 है |


धातुओं के सामान्य गुण

धातुओं के सामान्य गुण निम्नलिखित है –

  1. धातुएँ आघातवर्ध्य होती है अर्थात हथौड़े से पीटने पर यह पतले वर्गों में परिवर्तित हो जाती हैं| तो सोना तथा चांदी सर्वाधिक आघातवर्ध्य धातुएँ हैं |
  2. धातुएं तन्य होती है अर्थात इन्हें खींचकर पतले तारों के रूप में ढाला जा सकता है| सोना सर्वाधिक तन्य धातु है, दूसरी सर्वाधिक तन्य धातु चांदी है |
  3. समस्त धातुएं ऊष्मा की चालक है, चांदी ऊष्मा की सर्वोत्तम चालक है, धातुओं में सबसे कम चालक सीसा है |
  4. धातुएं उच्च विद्युत चालकता दर्शाती हैं, विद्युत की सर्वोत्तम चालक चांदी तथा तांबा है, इसके बाद विद्युत चालकता में क्रमशः सोना, एलुमिनियम तथा टंगस्टन का स्थान आता है पारा तथा लोहा विद्युत धारा के प्रवाह में अपेक्षाकृत अधिक प्रतिरोध उत्पन्न करते हैं |
  5. मरकरी (पारे) के अतिरिक्त अन्य सभी धातुएं साधारण ताप पर ठोस होती है परंतु मरकरी साधारण ताप पर द्रव अवस्था में पाई जाती है |
  6. धातुओं के गलनांक तथा क्वथनांक उच्च होते हैं, परंतु गैलियम और सीजीयम धातुओं’ का गलनांक बहुत कम होता है |
  7. धातुओं का घनत्व (सोडियम तथा पोटेशियम) के अतिरिक्त जल से उच्च होता है, ओसमियम सर्वाधिक भारी धातु है |
  8. धातु है सामान्यतः कठोर होती है परंतु क्षारीय धातुएँ जैसे-लिथियम, सोडियम, पोटेशियम आदि इतनी मुलायम होती है कि इन्हें चाकू से आसानी से काटा जा सकता है |

Email Notification के लिए Subscribe करें 

मुख्य विषय
ज्ञानकोश  इतिहास  भूगोल 
गणित  अँग्रेजी  रीजनिंग 
डाउनलोड  एसएससी रणनीति
अर्थव्यवस्था विज्ञान  राज्यव्यवस्था
राज्यवार हिन्दी टेस्ट सीरीज़ (Unlimited)
कृषि क्विज़ जीवनी
Total
0
Shares
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts
Read More

विधानपरिषद् के सत्र सत्रावसान, विघटन, कार्य एवं शक्तियां (Session Session, Dissolution, Work And Powers Of The Legislative Council)

विधानपरिषद् के सत्र सत्रावसान एवं विघटन (Session session and dissolution of legislative council) अनुच्छेद 174 में सत्र, सत्रावसान व…
Read More

अनेकार्थी शब्द

अनेकार्थी शब्द विभिन्न प्रसंगों से अनेक अर्थों में प्रयुक्त होने वाले शब्द ‘अनेकार्थी शब्द’ कहलाते हैं | ऐसे…
RedBloodCells
Read More

क्या है थैलासीमिया ? तथा भारत सरकार द्वारा इसके उपचार के लिये उठाये गये कदम

Table of Contents Hide क्या होता है थैलासीमिया?थैलेसेमिया के प्रकारथैलेसेमिया के लक्षणबचाव एवं सावधानीभारत सरकार द्वारा उठाये गये कदम…
हमारा Android App (GuideBook-The Most Powerful Preparation App) डाउनलोड कीजिये !
Download