अमर्त्य सेन के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी | Amartya Sen Biography in Hindi

अमर्त्य सेन के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी |Amartya Sen Biography in Hindi


  • अमर्त्य सेन (Amartya Sen)(जन्म: 3 नवंबर, 1933) अर्थशास्त्री है, उन्हें 1998 में अर्थशास्त्र के नोबल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • संप्रति वे हार्वड विश्वविद्यालय में प्राध्यापक हैं। वे जादवपुर विश्वविद्यालय, दिल्ली स्कूल ऑफ इकानामिक्स और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में भी शिक्षक रहे हैं।
  • सेन ने एम.आई। टी, स्टैनफोर्ड, बर्कली और कॉरनेल विश्वविद्यालयों में अतिथि अध्यापक के रूप में भी शिक्षण किया है।
  • उनका जन्म कोलकाता में शांति निकेतन में हुआ था, जहाँ उनके नाना क्षिति मोहन सेन शिक्षक थे।
  • उनके पिता आशुतोष सेन ढाका विश्वविद्यालय में रसायन शास्त्र पढ़ाते थे। कोलकाता स्थित शांति निकेतन और प्रेसीडेंसी कॉलेज से पढ़ाई पूर्ण करने के बाद उन्होंने कैम्ब्रिज के ट्रिनीटी कॉलेज से शिक्षा प्राप्त की।
  • अपने जीवन के कुछ वर्ष उन्होंने मांडले (बर्मा में स्थित) में भी बिताए और उनकी प्रारम्भिक शिक्षा ढाका में हुई।
  • उन्हें वर्ष 1998 में अर्थशास्त्र का नोबल सम्मान मिला और 1999 में भारत रत्न से सम्मनित किया गया।

Email Notification के लिए Subscribe करें 

मुख्य विषय
ज्ञानकोश  इतिहास  भूगोल 
गणित  अँग्रेजी  रीजनिंग 
डाउनलोड  एसएससी रणनीति
अर्थव्यवस्था विज्ञान  राज्यव्यवस्था
राज्यवार हिन्दी टेस्ट सीरीज़ (Unlimited)
कृषि क्विज़ जीवनी
Total
2
Shares
1 comment
  1. सेन ने अपने कैरियर की शुरुआत एक शिक्षक और अनुसंधान विद्वान के तौर पर अर्थशास्त्र विभाग, जादवपुर विश्वविद्यालय से किया। 1960 और 1961 के बीच सेन, संयुक्त राज्य अमेरिका में मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में एक विजिटिंग प्रोफेसर थे, जहां उन्हें पॉल सैमुएलसन, रॉबर्ट सोलो, फ्रेंको मोडिग्लिनी, और नॉर्बर्ट वीनर के बारे में पता चला। वे यूसी-बर्कले और कॉर्नेल में भी विजिटिंग प्रोफेसर प्रोफेसर थे।

    उन्होंने 1963 और 1971 के बीच दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर के रूप में पढ़ाया। सेन बहुत सारे प्रतिष्ठित अर्थशास्त्र के विद्वान् के सहयोगी भी रह चुके हैं जिनमे मनमोहन सिंह (भारत के पूर्व प्रधान मंत्री और भारतीय अर्थव्यवस्था को उदार बनाने के लिए जिम्मेदार एक अनुभवी अर्थशास्त्री) केएन राज (विभिन्न प्रधान मंत्रियों के सलाहकार और एक अनुभवी अर्थशास्त्री जो सेंटर फॉर डेवेलपमेंट स्टडीज के संस्थापक थे) और जगदीश भगवती है। 1987 में वे हार्वर्ड में इकॉनॉमिक्स के थॉमस डब्ल्यू. लैंट यूनिवर्सिटी प्रोफेसर के रूप में शामिल हो गए।
    नालंदा जो 5 वीं शताब्दी से लेकर 1197 तक उच्च शिक्षा का एक प्राचीन केंद्र था। इसको पुनः चालु किया गया एवं 19 जुलाई 2012 को, सेन को प्रस्तावित नालंदा विश्वविद्यालय (एनयू) के प्रथम चांसलर के तौर पर नामित किया गया था। इस विश्वविद्यालय में अगस्त 2014 में अध्यापन का कार्य शुरू हुआ था। 20 फरवरी 2015 को अमर्त्य सेन ने दूसरे कार्यकाल के लिए अपनी उम्मीदवारी वापस ले ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts
Read More

212 विश्व विख्यात व्यक्तित्व (संक्षेप में)| 212 World Famous Personalities in Hindi

अब्दुल गफ्फार खान- ‘फ्रंटियर गाँधी के नाम से प्रसिद्ध; स्वतंत्रता संग्राम के दौरान ‘नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर प्रॉविंस के प्रमुख…
vaigyanik
Read More

विश्व के प्रसिद्ध वैज्ञानिक और उनके अविष्कारों का संक्षिप्त वर्णन

Table of Contents Hide सर आइज़क न्यूटन (Issac Newton)अल्फ्रेड नोबेल (Alfred Nobel)आर्मेडियो अवोगाद्रो (Amedeo Avogadro)एंटोइन लावोइसीयर (Antoin Lavoisier)अरस्तू…
Read More

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के कुछ प्रमुख व्यक्तित्व | PDF | Download

इस नोट्स में आप पायेंगे, विभिन्न स्वतंत्रता संग्राम के व्यक्तित्वों के बारे में, अक्सर प्रतियोगी परीक्षाओं में इससे…
Read More

दादा भाई नौरोजी का जीवन परिचय

Table of Contents Hide दादा भाई नौरोजीजन्म तथा प्राथमिक शिक्षाउच्च विचार‘बम्बई एसोसिएशन‘इंगलैण्ड की यात्राभारत आगमनकांग्रेस पार्टी गठन ब्रिटिश पार्लियामेंट…
हमारा Android App (GuideBook-The Most Powerful Preparation App) डाउनलोड कीजिये !
Download