क्या है यूनेस्को तथा भारत में विश्व विरासत स्थल?

यूनेस्को(UNESCO)

  • यूनेस्को यानी ‘संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (United Nations Educational, Scientific and Cultural Organization)’ संयुक्त राष्ट्र का ही एक भाग है।
  • यूनेस्को का मुख्यालय पेरिस (फ्राँस) में है।
  • यूनेस्को का गठन 16 नवंबर, 1945 को हुआ था
  • यूनेस्को का कार्य शिक्षा, प्रकृति तथा समाज विज्ञान, संस्कृति और संचार के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय शांति को बढ़ावा देना है।
  • यूनेस्को का उद्देश्य शिक्षा एवं संस्कृति के अंतर्राष्ट्रीय सहयोग से शांति एवं सुरक्षा की स्थापना करना है, ताकि संयुक्त राष्ट्र के चार्टर में वर्णित न्याय, कानून का राज, मानवाधिकार एवं मौलिक स्वतंत्रता हेतु वैश्विक सहमति बन पाए।

विश्व विरासत स्थल

  • यूनेस्को द्वारा सूचीबद्ध विशेष सांस्कृतिक या भौतिक महत्त्व के कारण स्थलों को विश्व धरोहर स्थल के रूप में जाना जाता है।
  • विश्व धरोहर स्थलों की सूची को ‘विश्व धरोहर कार्यक्रम’ द्वारा तैयार किया जाता है, यूनेस्को की विश्व धरोहर समिति द्वारा इस कार्यक्रम को प्रशासित किया जाता है। 
  • यूनेस्को विश्व भर में सांस्कृतिक और प्राकृतिक धरोहर (जिसे मानवता के लिये उत्कृष्ट मूल्य माना जाता है) की पहचान, संरक्षण और सुरक्षा को प्रोत्साहित करने की कोशिश करता है।
  • यह सूची यूनेस्को द्वारा वर्ष 1972 में अपनाई गई ‘विश्व सांस्कृतिक और प्राकृतिक धरोहरों के संरक्षण से संबंधित कन्वेंशन’ नामक एक अंतर्राष्ट्रीय संधि में सन्निहित है।
  • विश्व विरासत केंद्र वर्ष 1972 में हुए कन्वेंशन का सचिवालय है।
  • यह पूरे विश्व में उत्कृष्ट सार्वभौमिक मूल्यों के प्राकृतिक और सांस्कृतिक स्थलों के संरक्षण को बढ़ावा देता है।

विश्व विरासत सूची में तीन प्रकार के स्थल शामिल हैं

1.सांस्कृतिक विरासत

  • इस प्रकार के स्थलों में ऐतिहासिक इमारत, शहर स्थल, महत्त्वपूर्ण पुरातात्त्विक स्थल, स्मारकीय मूर्तिकला और पेंटिंग कार्य शामिल किये जाते हैं।

2.प्राकृतिक विरासत

  • इस प्रकार के स्थलों में उत्कृष्ट पारिस्थितिक और विकासवादी प्रक्रियाएँ, अद्वितीय प्राकृतिक घटनाएँ, दुर्लभ या लुप्तप्राय प्रजातियों के आवास स्थल आदि शामिल किये जाते हैं।

3.मिश्रित विरासत

  • इस प्रकार के स्थलों में प्राकृतिक और सांस्कृतिक दोनों प्रकार के महत्त्वपूर्ण तत्त्व शामिल होते हैं।

भारत में यूनेस्को द्वारा मान्यता प्राप्त कुल 39 विरासत धरोहर स्थल (31 सांस्कृतिक, 7 प्राकृतिक और 1 मिश्रित) हैं।

भारत में सांस्कृतिक स्थल (30)

  1. आगरा का किला (1983)
  2. अजन्ता की गुफाएँ (1983)
  3. नालंदा महाविहार का पुरातात्त्विक स्थल (2016)
  4. सांची का बौद्ध स्मारक (1989)
  5. चंपानेर-पावागढ़ पुरातत्त्व उद्यान (2004)
  6. छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (विक्टोरिया टर्मिनस) (2004)
  7. गोवा के चर्च और मठ (1986)
  8. एलीफेंटा की गुफाएँ (1987)
  9. फतेहपुर सीकरी (1986)
  10. ग्रेट लिविंग चोल मंदिर (1987, 2004)
  11. बृहदेश्वर और ऐरावतेश्वर मंदिर
  12. हम्पी में स्मारकों का समूह (1986)
  13. महाबलीपुरम में स्मारक समूह (1984)
  14. पट्टदकल समूह के स्मारक (1987)
  15. राजस्थान के पर्वतीय किले (2013)
  16. ऐतिहासिक शहर अहमदाबाद (2017)
  17. हुमायूँ का मकबरा, दिल्ली (1993)
  18. जयपुर शहर, राजस्थान (2019)
  19. खजुराहो समूह के स्मारक (1986)
  20. महाबोधि मंदिर परिसर, बोधगया (2002)
  21. भारत के पर्वतीय रेलवे (1999, 2005, 2008)- दार्जिलिंग पर्वतीय रेलवे,नीलगिरि पर्वतीय रेलवे,कालका-शिमला रेलवे
  22. कुतुब मीनार और इसके अन्य स्मारक, नई दिल्ली (1993)
  23. रानी की वाव, पाटन (2014)
  24. लाल किला परिसर, दिल्ली (2007)
  25. भीमबेटका के शैल आवास, मध्य प्रदेश (2003)
  26. सूर्य मंदिर, कोणार्क (1984)
  27. ताज महल, आगरा (1983)
  28. ली कार्बूजियर का वास्तुकला कार्य, चंडीगढ़ (2016)
  29. जंतर-मंतर, जयपुर (2010)
  30. विक्टोरियन गोथिक एवं आर्ट डेको इंसेबल्स, मुंबई (2018)
  31. धुंधार, 2021 जबलपुर, मध्य प्रदेश

भारत में प्राकृतिक स्थल (7)

  1. ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क संरक्षण क्षेत्र (2014)
  2. काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान (1985)
  3. केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान (1985)
  4. मानस वन्यजीव अभयारण्य (1985)
  5. नंदा देवी और फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान (1988, 2005)
  6. सुंदरबन नेशनल पार्क (1987)
  7. पश्चिमी घाट (2012)

भारत के मिश्रित स्थल (1)

  1. कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान (2016)