वास्तविक संयोजी ऊतक (Real connective tissue)

वास्तविक संयोजी ऊतक (Real connective tissue)


  • फाइब्रोब्लास्ट घाव भरने में सहायक होता है |
  • मैक्रोफेज ग्लीयल कोशिका (मस्तिष्क), कुफ्फर कोशिका (यकृत), मोनोसाइट (रुधिर) यह कोशिकाएं फैगोसाइट्रिक तथा अपमार्जक होती है |
  • मास्ट कोशिकाएं एलर्जी क्रिया में भूमिका, शरीर की रक्षा तथा विभिन्न पदार्थ उत्पन्न करते हैं; जैसे-हिपेरिन रुधिर को जमाने से रोकता है हिस्टेमिन एलर्जी में उत्तेजक होता है |
  • लसीका कोशिकाएं प्रतिरक्षीयों का संश्लेषण एवं संवहन में सहायक होता है |
  • प्लाजमा कोशिकाएं प्रतिरक्षी पदार्थों का संशलेषण करते हैं |
  • अंतराली संयोजी ऊतक विभिन्न ऊतकों के बीच का स्थान भरने तथा उन्हें जोड़ने एवं अंगों को उनके स्थान पर बनाए रखने में सहायक होता है | उदाहरण धमनी व शिराओं की भित्ति पर खोखले अंगों में आदि |
  • वसामय ऊतक यह वसा को संश्लेषित, संचय एवं उसका उपापचय करते हैं | व्हेल का ब्लबर, ऊंट का कूबड़, तथा मैरिनो भेड़ की मोटी पूछ मुख्यतया बसा ऊतक की बनी होटी है |
  • श्वेत तंतुमय ऊतक यह टेण्डन्स या कण्डराओं का निर्माण करता है जो पेशी को अस्थि से जोड़ता है |
  • पीत लोचदार ऊतक यह लिगामेंट का निर्माण करता है, जो अस्थि को एक दूसरे अस्थि से जोड़ता है यह इलास्टिन तंतुओं का बना होता है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here