विधान परिषद एवं विधानसभा की तुलना (Comparison of Legislative Council and Assembly)

Table of Contents

विधान परिषद एवं विधानसभा की तुलना (Comparison of Legislative Council and Assembly)

विधानपरिषद (Legislative Council)

विधानसभा (Assembly)

1विधानपरिषद राज्य विधानमंडल का उच्च सदन अथवा द्वितीय सदन होता है |विधानसभा राज्य विधानमंडल का निम्न सदन अथवा प्रथम सदन होता है |
2विधानपरिषद के सदस्यों का निर्वाचन अप्रत्यक्ष रूप से आनुपातिक प्रतिनिधित्व पद्धति के अनुसार एकल संक्रमणीय मत प्रणाली के आधार पर होता है |विधान सभा के सदस्यों का निर्वाचन प्रत्यक्ष रुप से पूर्व वयस्क मताधिकार के आधार पर साधारण बहुमत की पद्धति द्वारा होता है |
3विधानपरिषद के स्थाई निकाय है जिसका विघटन नहीं किया जा सकता परंतु एक तिहाई सदस्य प्रत्येक 2 वर्ष की समाप्ति के बाद सेनानिवृत हो जाते हैं तथा उनके स्थान पर नए सदस्य निर्वाचित हो जाती है इनके सदस्यों का कार्यकाल 6 वर्ष का होता है |विधानसभा का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है परंतु कार्यकाल पूर्ण होने के पूर्व मुख्यमंत्री के परामर्श पर राज्यपाल द्वारा इसे भंग किया जा सकता है |
4विधानपरिषद के सदस्यों की संख्या अधिक से अधिक राज्य की विधानसभा के सदस्यों की संख्या की एक तिहाई होती है, परंतु वह 40 से कम किसी अवस्था में नहीं हो सकती |विधान सभा के सदस्यों की संख्या अधिक से अधिक 500 तथा कम से कम 60 हो सकती है |
5विधानपरिषद राज्य के कुछ विशेष वर्गों का प्रतिनिधित्व करती है |विधानसभा की समस्त जनता का प्रतिनिधित्व करती है |
6राज्य की मंत्रिपरिषद के प्रति उत्तरदाई नहीं होती |राज्य की मंत्रिपरिषद विधानसभा के प्रति उत्तरदाई होती है |
7विधानपरिषद में मंत्रिपरिषद के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव पारित कर उसे पदच्युत नहीं किया जा सकता| वह मंत्री परिषद के कार्यों की जांच आलोचना ही कर सकती है, जो प्रश्न एवं पूरक प्रश्न पूछ कर तथा स्थगन प्रस्ताव द्वारा किया जाता है |विधानसभा मंत्रिपरिषद के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव पारित कर उसे पदच्युत कर सकता है |
8धन विधेयक विधानपरिषद में प्रस्तावित नहीं किया जा सकता |धन विधेयक केवल विधानसभा में प्रस्तावित किया जा सकता है |
9विधानपरिषद के सदस्य राष्ट्रपति के निर्वाचन हेतु गठित निर्वाचक मंडल के सदस्य नहीं होते है | अर्थात विधान परिषद राष्ट्रपति के चुनाव में भाग नहीं ले सकते हैं |विधानसभा के सभी निर्वाचित और राष्ट्रपति के निर्वाचन हेतु गठित निर्वाचक मंडल के सदस्य होते हैं| अर्थात विधानसभा के निर्वाचित सदस्य राष्ट्रपति के चुनाव में भाग ले सकते हैं |
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

Leave a Comment