राज्य विधानमंडलों की शक्तियों पर प्रतिबंध

राज्य विधानमंडलों की शक्तियों पर प्रतिबंध 

राज्य के विधान मंडलों पर निम्नलिखित प्रतिबंध संविधान में आरोपित किए हैं –

  • राज्य सूची के कुछ विषय पर राज्यों के विधान मंडल राष्ट्रपति की पूर्व अनुमति के बिना कानून नहीं बना सकते हैं |
  • कुछ विषयों से जुड़े हुए कानून राज्य विधानमंडल द्वारा निर्मित कानून संबंधी राज्य के राज्यपाल द्वारा राष्ट्रपति की स्वीकृति हेतु भेजे जाते हैं राष्ट्रपति की स्वीकृति के पश्चात ही वह कानून प्रवर्तनीय होते हैं |
  • आपातकालीन परिस्थितियों में संसद राज्य सूची के विषयों पर भी कानून बनाने के लिए स्वतंत्र है |
  • राज्यसभा दो तिहाई बहुमत से एक प्रस्ताव पारित करके राज्य सूची के किसी भी विषय को संसद को कानून निर्माण हेतु सौंप सकती है ऐसे विषय पर संसद 1 वर्ष हेतु कानून का निर्माण कर सकती है और इस अवधि में वृद्धि भी की जा सकती है |
  • किन्ही कारणों में राज्य में संवैधानिक तंत्र विफल होने की स्थिति में राष्ट्रपति उक्त राज्य की विधानसभा को भंग कर सकते हैं ताकि वहां नए चुनाव कराए जा सकें |
Total
0
Shares
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts
kendra shasit pradesh kya hota hai
Read More

केंद्र शासित प्रदेश क्या होता है? और भारत में केंद्र शासित प्रदेश क्यों हैं ?

भारतीय संविधान में प्रारूप के अनुसार भारत को राज्यों का संघ कहा जाता है,वर्तमान समय में भारत में…
Read More

अनेकार्थी शब्द

अनेकार्थी शब्द विभिन्न प्रसंगों से अनेक अर्थों में प्रयुक्त होने वाले शब्द ‘अनेकार्थी शब्द’ कहलाते हैं | ऐसे…
Read More

मंत्री परिषद उसका कार्यकाल, योग्यताएँ व सदस्य संख्याएँ( Council of Ministers, his tenure, qualifications and member numbers)

Table of Contents Hide मंत्री परिषद (Council of ministers)मंत्री परिषद का कार्यकाल (Tenure of the council)मंत्रियों की योग्यताएँ (Qualifications…
Read More

राज्यपाल की नियुक्ति एवं भूमिका को लेकर बने प्रमुख आयोग एवं उनकी सिफारिशें

Table of Contents Hide राज्यपाल की नियुक्ति एवं भूमिका को लेकर बने प्रमुख आयोग एवं उनकी सिफारिशेंप्रशासनिक सुधार…
हमारा Android App (GuideBook-The Most Powerful Preparation App) डाउनलोड कीजिये !
Download