• क्रिकेट में गेंदबाज़ की गति को रडार गन से मापा जाता हैं । रडार गन को स्पीड गन भी कहा जाता हैं ।
  • यह क्रिकेट स्टेडियम की साइड स्क्रीन के पास लगी होती हैं । इसमे एक ट्रांसमीटर और रिसीवर लगा होता हैं ।
  • जैसे ही गेंदबाज़ के हाथ से गेंद छूटती हैं ठीक उसी समय की गति हमे दर्शाई जाती हैं। इस विषय मे कई प्रश्न भी उठते हैं कि बॉल के तुरंत छूटने की गति के स्थान पर बल्लेबाज़ के पास पहुँचने पर प्राप्त होने वाली गति दिखाई जानी चाहिए लेकिन काफी लंबे समय से इसी तकनीक का उपयोग हो रहा हैं ।
  • इसके अतिरिक्त हॉक ऑय तकनीक के द्वारा भी गति मापी जाती हैं लेकिन क्रिकेट में यह तकनीक सिर्फ बॉल की दिशा के गणितीय अनुमान के लिए उपयोग में लाई जाती हैं जिसे बॉल ट्रैकिंग कहा जाता हैं ।फिलहाल गति के आँकड़े इसमे गुप्त ही रहते हैं ।
  • इसमे मैदान में स्थित छः अलग- अलग कैमरों का प्रयोग किया जाता हैं ।

Categorized in:

Tagged in:

,