Fit India Movement क्या है ? | विश्लेषण | पूरी जानकारी

What is Fit India Movement ?

Fit India Movement क्या है ?, फिट इंडिया मूवमेंट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में ‘फिट इंडिया अभियान’ की शुरुआत की। खेल दिवस के अवसर पर इसे लॉन्च किया गया है। हम सब यह तो जानते ही हैं कि खेल दिवस मेजर ध्यानचंद के जन्म दिवस पर मनाया जाता है और इसी दिन से अब 4 साल के लिए हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिट इंडिया मूवमेंट शुरू किया है | इसका जिक्र प्रधानमत्री ने अपने भाषण में किया |

4 सालों में क्या – क्या होगा ?

  • चार साल तक चलने वाले अभियान में प्रत्येक साल हर तरह की फिटनेस के प्रति जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।
  • साल 2019-20 में फिजिकल फिटनेस के प्रति
  • 2020-21 में खाने की आदतों के बारे में
  • 2021-22 में पर्यावरण अनुकूल जीवन शैली दीर्घकालिक जीवन
  • 2022-23 में अच्छे स्वास्थ्य, जीवन शैली
  • स्वास्थ्य के अनुकूल चीजें और सेवाओं के अलावा रोगों से दूर रहने के तरीकों के प्रति जागरूक किया जाएगा।

इससे पहले कि मैं आगे शुरू करूं आप सब यह तो जानते ही हैं कि हेल्थ इज वेल्थ यानी स्वास्थ्य ही धन है तुम्हें इस मूवमेंट को अपने प्रधानमंत्री के उसी वेल्थ की खोज का मूवमेंट कहूंगा जो आजकल कहीं होती जा रही है

अब यह तो ही सामान्य बात  अब आगे इस लेख में हम जानेंगे कि इस मूवमेंट की जरूरत आखिर क्यों पड़ी और वह बातें भी जानेंगे जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में इसे लांच करते वक्त कहीं

अब सबसे पहले जानते हैं कि आखिर ऐसे मूवमेंट की जरूरत क्यों पड़ी ?

  • आपने सुना ही होगा एक स्वास्थ्य शरीर में ही एक स्वास्थ्य दिमाग/मन निवास करता है, अब यदि किसी देश के नागरिक स्वास्थ्य नहीं होंगे तो ना उनका मस्तिष्क और ना मन स्वस्थ होगा और ऐसे में वह देश भी स्वस्थ कैसे कहा जा सकता है
  • यदि हमारे नागरिक स्वस्थ होंगे तो वह बेहतर सोचेंगे अच्छा माहौल बनेगा और देश भी विकास की राह पर तेजी से चल सकेगा
  • अब यदि आप उदाहरण देखें अफ्रीकी देशों का अधिकतर समय में किसी न किसी बीमारी से लड़ते हुए बिता देते हैं वजह है कि वहां अधिकतर देशों में ना तो साफ सफाई है और ना ही स्वास्थ्य पर कोई ध्यान तो अक्सर ही कोई ना कोई नई बीमारी फैलती रहती है और बीमारी के चलते वह किसी और काम में किसी और विकास कार्य में ध्यान ही नहीं लगा पाते यह भी एक बड़ी वजह है उन देशों का विकास ना हो पाने की | 

इस तरह आप देख सकते हैं कि यह मूवमेंट हमारे प्रधानमंत्री की दूरगामी  सोच का नतीजा है जिसके परिणाम हमें बहुत बेहतर और बहुत जल्द दिखने लगेंगे

अब देखते हैं भारत में बीमारियों के आंकड़े 

  • भारत में 5 करोड़ से ज्यादा लोग दिल की बीमारी से पीड़ित 
  • 64 फीसदी भारतीय एक्सरसाइज नहीं करते हैं 
  • 34 फीसदी लोग शारीरिक रूप से सक्रिय नहीं हैं 
  • भारत डायबिटीज की राजधानी, देश में 7 करोड़ से ज्यादा लोग डायबिटीज का शिकार 
  • भारत में हर साल 2.6 लोगों की मौत हाइपरटेंशन की वजह से होती है 
  • देश में 3 करोड़ से ज्यादा लोग मोटापे से पीड़ित हैं 
  • देश के 31 फीसदी लोगों के पास एक्सरसाइज का समय नहीं 
  • एक सर्वे के अनुसार, साल 2025 तक 5 करोड़ लोग मोटापे का शिकार होंगे

अब आपको समझ में आ गया होगा इस मूवमेंट की भारत में कितनी जरूरत है 

अब देखते हैं वह बातें जो हमारे प्रधानमंत्री ने इस मूवमेंट को लांच करते वक्त कहीं

  • इस अभियान को जन आंदोलन बनाने की आवश्यकता है |
  • फिटनेस सिर्फ एक शब्द नहीं है बल्कि स्वस्थ जीवन जीने के लिए जरूरी शर्त है |
  • हमें स्वार्थ से स्वास्थ्य की ओर जाना होगा |
  • फिटनेस हमारे जीवन का अभिन्न अंग रहा है और समय के साथ इसे लेकर सोसाइटी में उदासीनता आती रही है
  • कुछ दशक पहले तक एक सामान्य व्यक्ति दिन में 8 से 10 किलोमीटर पैदल चलता था इसके बाद धीरे-धीरे टेक्नोलॉजी बदली आधुनिक साधन आए और पैदल चलना कम हो गया
  • तकनीक ने हमारी ऐसी हालत कर दी है कि हम चलते काम है और गिनते ज्यादा है तकनीक हमें गिन कर बताती है कि आज आप इतने स्टेप्स चले हैं 
  • 30 साल के युवक को भी हार्ट अटैक की खबर आती है यह हमारे लाइफस्टाइल की वजह से हो रहा है सरकार अपना काम करेगी लेकिन सभी को इसके बारे में सोचना चाहिए 

इन देशों में भी चल रहे हैं इसी तरह के अभियान

  • चीन में हेल्दी चाइना मिशन 2030 चल रहा है। चीन इसे मिशन मोड में चला रहा है ताकि उसके देश के नागरिक फिट हो सकें।
  • ऑस्ट्रेलिया अपने नागरिकों की फिजिकल गितिविधि बढ़ाने और आलसीपन के स्वभाव को बदलने के लिए 2030 तक देश के 15 प्रतिशत नागरिकों को आलस्य से बाहर निकालने के मिशन में लगा हुआ है।
  • ब्रिटेन 2020 तक 5 लाख नए लोगों को डेली व्यायाम से जोड़ने की कोशिश में जुटा है।
  • अमेरिका 2021 तक अपने 1000 शहरों को फ्री फिटनेस अभियान से जोड़ने के लिए काम कर रहा है।
  • जर्मनी में फिट इंस्टीड ऑफ फैट अभियान चल रहा है। 

क्या फायदा होगा इस Fit India Movement से

  • भारत में लोगों ने स्वास्थ्य को प्राथमिकता के तौर पर देखना बंद कर दिया है, लोग कार और बाइक और फ़ोन की Health का तो ध्यान रखते हैं पर अपनी नहीं |
  • तो ऐसे में ये अभियान प्रेरित करेगा स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करेगा, हाँ जागरूकता आने में समय जरूर लग सकता है पर ऐसा नहीं है आएगी नहीं उदाहरण के तौर पर स्वच्छता अभियान ने भी थोड़ा समय लिया और अभी भी लग रहा है पर असर दिखाई दे रहा है |
  • अगर देश के नागरिक स्वस्थ होंगे तो जाहिर है देख प्रगति के पथ पर अग्रसर होगा

ये भी पढ़ें –

What is PM Narendra Modi Fit India Movement, Campaign, Hindi

5 thoughts on “Fit India Movement क्या है ? | विश्लेषण | पूरी जानकारी”

  1. फिट इंडिया मूवमेंट से कई फायदे होंगे । खासकर उन बच्चो के लिए जो खेल कूद में भाग नही लेते है और मोबाइल को ही अपना खेल बनाते है। अगर सभी बच्चे इस मूवमेंट में हिस्सा लेंगे तो युवा पीढ़ी में बीमारिया कम होगी जो आने वाले फ्यूचर के लिए फायदेमंद साबित होगी।

  2. फिट इंडिया को अगर मोमेंट को आगे बढ़ाना है तो सबसे पहले स्कूलों का टाइम को चेंज करना होगा स्कूल 9:00 से 4:00 होनी चाहिए तभी बच्चे सुबह उठकर के मॉर्निंग वॉक और फिटनेस पर ध्यान दे सकते हैं नहीं तो अरबों रुपया इसी तरह स्वीट इंडिया में बर्बाद करिएगा

  3. Agar sabhi school me complsari kar diya jay ki physical education ka Teacher bahal kar diya jay to fit india ka jo Aim he wah sahi dhang se prepare ho sakta he in pe Prime minister sir ko deeply action lena chahiye jo zayada zarurat he ye sirf 29 August ko mike pe bhasan dene se fit india ka aim pura nahi ho sakta he ye mera opinion he
    Sundar kumar
    From st Joseph’s school kahalgaon
    As a physical education trainer

Leave a Comment