क्या है एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (IDSP)?

एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (Integrated Disease Surveillance Programme- IDSP)

  • नवम्बर-2004 में विश्व बैंक की सहायता के साथ रोगों के प्रकोप की तीव्रता से जांच एवं प्रतिक्रिया हेतु ‘एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम’ (IDSP) की शुरूआत की गई थी ।
  • योजना के तहत एक ‘केंद्रीय निगरानी इकाई’ (Central Surveillance Unit- CSU) की स्थापना ‘राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र’, दिल्ली में की गई है।
  • सभी 36 राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों में राज्य/जिला सर्वेक्षण इकाईयाॅं एवं शीघ्र प्रतिक्रिया दल कार्यरत हैं ।
  • आई.डी.एस.पी. देश के लगभग 91 प्रतिशत जिलों से आई.डी.एस.पी. र्पोटल द्वारा साप्ताहिक रोग सर्वेक्षण आंकड़े प्राप्त करने में सक्षम है ।
  • योजना के तहत उप-केन्द्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, सरकारी एवं प्राईवेट अस्पताल तथा मैडिकल काॅलेज से महामारी प्रवृत रोगों से संबंधित आंकडे एकत्रित किये जा रहे हैं ।
  • सभी राज्यों तथा ज़िलों (SSU/DSU) में निगरानी इकाइयों की स्थापना की गई है। 

IDSP का उद्देश्य

  • रोगों की प्रवृत्ति पर निगरानी रखने के लिये विकेंद्रीकृत निगरानी प्रणाली को मज़बूत करना।
  • प्रशिक्षित रैपिड रिस्पांस टीम (Rapid Response Team- RRTs) द्वारा महामारी प्रवत रोगों के संचालन, जांच एवं तुरन्त प्रतिक्रिया को सुदृढ़ बनाना है ।
  • डेटा के संग्रह, संकलन, विश्लेषण और प्रसार के लिये सूचना संचार प्रौद्योगिकी का प्रयोग करना।
  • सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं को मज़बूत बनाना।