क्यों मिलाते हैं पेट्रोल में एथेनॉल ?

एथेनॉल

  • एथेनॉल एक तरह का अल्कोहल है, जिसे पेट्रोल में मिलाकर गाड़ियों में फ्यूल की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • एथेनॉल का उत्पादन यूं तो मुख्य रूप से गन्ने की फसल से होता है लेकिन शर्करा वाली कई अन्य फसलों से भी इसे तैयार किया जा सकता है।
  • इससे खेती और पर्यावरण दोनों को फायदा होता है।
  • पेट्रोल में एथेनॉल मिलाने से पेट्रोल के उपयोग से होने वाले प्रदूषण को कम करने में मदद मिलेगी।
  • इसके इस्तेमाल से गाड़ियां 35% कम कार्बन मोनोऑक्साइड का उत्सर्जन करती है।
  • सल्फर डाइऑक्साइड और हाइड्रोकार्बन का उत्सर्जन भी इथेनॉल कम करता है।
  • सरकार ने पेट्रोल में 10 प्रतिशत तक एथेनॉल मिलाने की अनुमति दी है।
  • भारत सरकार ने वर्ष 2025 तक पेट्रोल और डीजल में 20 फीसदी तक इथेनॉल मिलाने का लक्ष्य रखा है।
  • भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है, जो अपनी 85 प्रतिशत से अधिक मांग को पूरा करने के लिए विदेशों से आयात पर निर्भर है।
  • एथेनॉल पर ध्यान केंद्रित करने से पर्यावरण के साथ-साथ किसानों के जीवन पर भी बेहतर प्रभाव पड़ रहा है, क्योंकि यह किसानों को आय का एक और स्रोत उपलब्ध कराता है।

Leave a Comment

Close Subscribe Card