स्वतन्त्रता आंदोलन में आरंभिक राजनीतिक संगठन

  • 1836 ई० में राजा राम मोहन राय के अनुयायियों ने पहली राजनीतिक संस्था बंग प्रकाशक सभा की स्थापना की।
  • 1838 ई० में बंगाल के जमींदारों ने लैंड होल्डर्स सोसायटी की स्थापना की। 
  • 1843 ई० में एक अन्य राजनीतिक सभा बंगाल ब्रिटिश इण्डिया सोसायटी बनी। 
  • 28 अक्टूबर, 1851 ई० को ‘लैंड होल्डर्स सोसायटी’ एवं ‘बंगाल ब्रिटिश इंडिया सोसाइटी’ को मिलाकर एक नवीन राजनीतिक संगठन ब्रिटिश इंडिया एसोसिएशन बनाया गया।
  • कलकत्ता के ‘ब्रिटिश इंडिया एसोसिएशन’ के नमूने पर 26 अगस्त, 1852 को बंबई में भी एक बम्बई एसोसिएशन की स्थापना हुई। 
  • महादेव गोविंद राणाडे ने 1870 ई० में पूना में पूना सार्वजनिक सभा गठित की। 
  • दादा भाई नौरोजी ने 1866 ई० में लंदन में ईस्ट इंडिया एसोसिएशन की स्थापना की। 
  • मद्रास में 1859 ई० में मद्रास नेटिव एसोसिएशन बनाई गई। यह कलकत्ता की ब्रिटिश इंडियन एसोसिएसन की एक शाखा थी।
  • 1884 ई० में मद्रास महाजन सभा गठित की गई।
  • सितंबर, 1875 ई० में कलकत्ता में ‘शिशिर कुमार घोष’ ने एक संस्था इंडियन लीग का गठन किया।
  • 26 जुलाई, 1876 को ‘इंडियन लीग’ का स्थान इंडियन एसोसिएशन ने ले लिया। इसके संस्थापक सुरेंद्रनाथ बनर्जी तथा आनंद मोहन बोस थे इंडियन एसोसिएशन का उद्देश्य मध्यम वर्ग को ही नहीं अपितु सर्वसाधारण को इस संगठन से जोड़ना था तथा इसीलिए एसोसिएशन का वार्षिक चंदा मात्र 5 रुपये रखा गया।
  • इंडियन एसोसिएसन ने कलकत्ता में 1883 ई० एवं 1885 ई० में आयोजित अपने राष्ट्रीय अधिवेशनों में सिविल सेवा परीक्षा भारत में करने तथा इसमें बैठने की अधिकतम उम्र सीमा 19 से 22 वर्ष करने एवं आर्म्स ऐक्ट का उन्मूलन करने की मांग की।
  • 1885 ई० में फिरोजशाह मेहता, के० टी० तेलंग एवं बदरुद्दीन तैय्यबजी के प्रयासों से बंबई में एक अन्य संगठन बॉम्बे प्रेसीडेंसी एसोसिएसन की स्थापना की।

Leave a Comment