कांग्रेस का बनारस अधिवेशन

कांग्रेस का बनारस अधिवेशन (Benaras Convention of Congress)

1905 ई० बनारस अधिवेशन में प्रिंस ऑफ वेल्स के 1906 ई० में संभावित भारत आगमन से संबंधित एक प्रस्ताव को उग्रवादियों के विरोध के बावजूद उदारवादियों ने पारित करा लिया।

  • तिलक द्वारा प्रस्तावित सरकार के निष्क्रिय प्रतिरोध का प्रस्ताव पारित न हो सका।
  • इस स्थिति में उग्रवादियों ने पंडाल के अंदर ही अलग से एक सभा की।
  • अत: उग्रवादी गरम दल का निर्माण बनारस अधिवेशन से ही माना जाना चाहिए।