कौन सी सुरक्षा एजेंसी ऑपरेशन ब्लू स्टार के बाद अस्तित्व में आयी?

ऑपरेशन ब्लू स्टार

  • आपरेशन ब्लू स्टार भारतीय सेना द्वारा 3 से 6 जून 1984 को अमृतसर ,पंजाब स्थित हरिमंदिर साहिब परिसर को जनरैल सिंह भिंडरावाले और उनके समर्थकों से मुक्त कराने के लिए चलाया गया अभियान था।
  • पंजाब में भिंडरावाले के नेतृत्व में अलगाववादी ताकतें सशक्त हो रही थीं जिन्हें पाकिस्तान से समर्थन मिल रहा था।
  • भारतीय सेना की तरफ से स्वर्ण मंदिर पर कि गई कार्यवाही को ‘ऑपरेशन ब्लू स्टार’ के नाम से जाना जाता है।
  • जून 1984 की घटना के बाद से हर साल यहां 6 जून को ऑपरेशन ब्लू स्टार की वर्षगांठ मनाई जाती है।
  • ऑपरेशन ब्लू स्टार 5 जून, 1984 को अमृतसर में स्वर्ण मंदिर के अंदर छिपे अलगाववादियों को बाहर निकालने के लिये भारतीय सैन्य अभियान को दिया गया एक कोड नाम है।
  • ऑपरेशन ब्लू स्टार ने खालिस्तानी आतंकवाद को खत्म करने में मदद की।
  • इसके परिणामस्वरूप भिंडरावाले की मृत्यु हो गई।
  • ऑपरेशन ब्लू स्टार के कुछ महीनों बाद इंदिरा गांधी की उनके सिख अंगरक्षकों द्वारा हत्या कर दी गई थी, जिसके बाद दिल्ली में गंभीर सिख विरोधी दंगे हुए थे।

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG)

  • यह एक आतंकवाद-रोधी इकाई है ।
  • आंतरिक अशांति के खिलाफ राज्यों की रक्षा के लिये आतंकवादी गतिविधियों का मुकाबला करने को ऑपरेशन ब्लू स्टार, अक्षरधाम मंदिर हमले और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद इस तरह के बल को बनाने का विचार आया।
  • देश में आतंकवाद से निपटने के लिये NSG का गठन वर्ष 1984 में एक संघीय आकस्मिक बल के रूप में किया गया था।
  • इसका मुख्यालय मानेसर, गुरुग्राम में स्थित है।
  • एनएसजी लोकप्रिय रूप से ब्लैक कैट के रूप में जाना जाता है।
  • NSG  का सिद्धांत सर्वत्र सर्वोत्तम सुरक्षा है।