क्या 1942 का भारत छोड़ो आंदोलन अहिंसक था ?

इस तरह के सवाल UPSC तथा PSC के Pre Exams में देखने को मिल सकते हैं, इसमें आपको कई विकल्प दिये जा सकते हैं, जिनमें से गलत या सही विकल्प चुनने को कहा जाता है |

यहाँ जैसे सवाल बन सकता है कि –

1942 के भारत छोड़ो आंदोलन के संबंध में निम्नलिखित में से कौन सी एक टिप्पणीं सत्य नहीं है ?

  • a) यह आंदोलन अहिंसक था
  • b) उसका नेतृत्व गांधी जी ने किया था |
  • c) यह आंदोलन स्वत प्रवर्तित था
  • d) इसने सामान्य श्रमिक वर्ग को आकर्षित नहीं किया

तो अब इसका उत्तर देखते हैं –

9 अगस्त 1942 को भारत छोड़ो आंदोलन प्रारंभ हुआ, इसी दिन गांधी जी और कांग्रेस कार्यकारिणी के सभी सदस्य बंदी बना लिए गए, और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी तथा प्रांतीय कांग्रेस कमेटियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया |

परंतु लोगों ने इसको चुपचाप स्वीकार नहीं किया देश में बड़ा विप्लव उठ खड़ा हुआ स्थान स्थान पर सार्वजनिक माल संपत्ति इत्यादि की हानि हुई, गोलियां चली |

हालांकि कांग्रेस के नेताओं ने इसके लिए कोई उत्तरदायित्व स्वीकार नहीं किया परंतु यह मानना कठिन है कि वे पूर्णतया अनभिज्ञ थे अथवा उनकी अनुमति के बिना यह सब कुछ हुआ |

सरकार ने भी दमन चक्र चलाया सैकड़ों व्यक्ति मारे गए और हजारों जेल में डाल दिए गए इसलिए यह आंदोलन पूर्ण तक नहीं था |