अति महत्वपूर्ण विज्ञान लघु प्रशनुत्तरी भाग-1

बस में खड़ा व्यक्ति अचानक बस के चल देने पर पीछे की ओर क्यों गिर पड़ता है?

  • जड़त्व के नियम के अनुसार बस के अचानक चल देने से व्यक्ति के शरीर का ऊपरी भाग विराम की अवस्था में ही बना रहता है, जबकि बस के संपर्क में रहने के कारण पैर बस के साथ गति की अवस्था में आ जाते हैं, जिससे व्यक्ति पीछे की ओर गिर पड़ता है।

चलती हुई बस के अचानक रुक जाने पर उसमें खड़ा व्यक्ति आगे की ओर क्यों गिर जाता है ?

  • जडत्व के ही नियमानुसार शरीर का नीचे का भाग जो बस के सम्पर्क में है, अचानक विराम की अवस्था में आ जाता है जबकि शरीर का ऊपरी भाग गतिशील ही रहता है, जिससे व्यक्ति आगे की ओर गिर पड़ता है।

कांच के दरवाजे में गोली मारने से उसमें गोल छेद हो जाता है, परन्तु पत्थर मारने से कांच टुकड़े-टुकड़े हो जाता है, क्यों ?

  • गोली का वेग अधिक होने के कारण वह काँच के दरवाजे में क्षणिक प्रभाव उत्पन्न करती है जिससे लक्ष्य बिन्दु के अतिरिक्त दरवाजे के अन्य भाग के कण विरामावस्था में ही रहते हैं, परिणामत: वहाँ सिर्फ एक छेद ही हो जाता है जबकि पत्थर से ऐसा नहीं होता है ।

घोड़ा तांगागाड़ी को कैसे खींचता है ?

  • ताँगागाडी को आगे की ओर खींचने पर परिणामी बल का वियोजित एक भाग ताँगागाड़ी के गुरुत्वबल के विरुद्ध कार्य करता है जबकि दूसरा वियोजित भाग ताँगागाड़ी को आगे बढ़ाता है, जिससे ताँगागाड़ी आसानी से आगे बढ़ती है ।

 कुएं से पानी खींचते समय रस्सी के टूट जाने से व्यक्ति पीछे की ओर क्यों गिर पड़ता है ?

  • न्यूटन के गतिविषयक तृतीय नियम के अनुसार प्रत्येक क्रिया के बराबर एवं विपरीत प्रतिक्रिया होती है । (घड़े + पानी) पानी के भार के बराबर एवं विपरीत दिशा में रस्सी के अनुदिश एक प्रतिक्रिया बल कार्य करता है जो व्यक्ति को रस्सी टूटने की अवस्था में पीछे गिराने के लिए जिम्मेदार होता है ।

बन्दूक से गोली छोड़ने पर पीछे ओर क्यों झटका लगता है ?

  • संवेग संरक्षण के नियमानुसार गोली में जितना संवेग-परिवर्तन होगा, बंदूक में भी उतना ही संवेग-परिवर्तन विपरीत दिशा में होगा। परिणामस्वरूप बंदूक पीछे की ओर हटती है जिससे पीछे की ओर धक्का लगता है ।

पहाड़ों पर चढ़ता हुआ व्यक्ति आगे की ओर झुक जाता है, क्यों ?

  • आगे की ओर झुक जाने से शरीर का गुरुत्व-केन्द्र व्यक्ति के पैरों के बीच में पड़ता है, जिससे वह स्थायी संतुलन की अवस्था में आसानी से ऊपर चढ़ सकता है।

पीसा की मीनार तिरछी होते हुए भी क्यों नहीं गिर रही है ?

  • सम्पूर्ण मीमार के गुरुत्व केन्द्र से होकर जाने वाली रेखा उसके आधार से होकर गुजरी है, जिससे मीनार स्थायी संतुलन की अवस्था में बनी हुई है।

लोहे का जहाज पानी पर तैरता है, लेकिन सूई क्यों डूब जाती है ?

  • जहाज द्वारा हटाये गये पानी का भार जहाज के भार से अधिक होता है, जिससे लोहे का जहाज पानी पर तैरता रहता है । लेकिन सूई अपने भार के बराबर पानी नहीं हटा पाती जिससे वह डूब जाती है

तुषार वाली रातों में जल के नल कभी-कभी फट जाते हैं, क्यों ?

  • तुषार वाली रातों में जल के तापमान में काफी गिरावट आ जाती है जिससे जल जम जाता है । चूँकि जल के जमने से बनी बर्फ का आयतन जल से अधिक होता है, इसीलिए नल फट जाते हैं।

 ठण्डे देशों में झीलों के जम जाने से भी जलीय जन्तु कैसे जिन्दा रहते?

  • झीलों का जल ऊपरी भाग में तो जम जाता है लेकिन निचले तल में जल का तापमान 4°C से नीचे नहीं गिरने पाता जिससे जलीय जन्तु आसानी से जिन्दा रहते हैं।

रेल की पटरियों के बीच जगह क्यों छोड़ दी जाती हैं ?

  • धातुओं में तापमान बढ़ने पर प्रसार होता है, जिससे रेल की पटरियाँ गर्मियों में बढ़ने पर छोड़ी गई खाली जगह में प्रसारित होकर टेढ़ी-मेढ़ी होने से बच जाती हैं ।

लकड़ी के पहिये पर लोहे की हाल चढ़ाने के पहले उसे क्यों गर्म करते हैं ?

  • लोहे की हाल को पहले गर्म करके उसकी परिधि में वृद्धि कर लेते हैं। तत्पश्चात पहिये पर आसानी से चढ़ाकर हाल को ठंडा करके संकुचित कर देते हैं